close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उपचुनाव की जंग, नूरपुर-कैराना में सीएम योगी आज करेंगे जनसभा

केशव प्रसाद मौर्या का दावा है कि राज्य की जनता को ठगने के लिए समाजवादी पार्टी और बीएसपी के साथ कई दल एकजुट हुए हैं, लेकिन उपचुनाव में इसका कोई फायदा नहीं होगा. 

उपचुनाव की जंग, नूरपुर-कैराना में सीएम योगी आज करेंगे जनसभा

नई दिल्ली/शामली: नूरपुर और कैराना उपचुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने कमर कस ली है. सभी पार्टी कार्यकर्ता और दिग्गज नेता गांव-गांव जाकर लोगों से वोट देने की अपील कर रहे हैं. वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी जनसभा को संबोधित कर रहे हैं. गोरखपुर और फूलपुर चुनाव में हारने के बाद प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ प्रचार करने के लिए शामली और नूरपुर में जनसभाओं को संबोधित करेंगे. शामली के किसान डिग्री कॉलेज में एक जमसभा को संबोधित करेंगे. जानकारी के मुताबिक, इस रैली में करीब बारह से ज्यादा विधायक और करीब 6 मंत्री भी शामिल होंगे. 

कैसे पहुंचेंगे शामली
सीएम योगी दोपहर करीब सवा बारह बजे गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस से हेलीकॉप्टर के जरिए शामली के लिए रवाना होंगे. दोपहर करीब 12 बजकर 55 मिनट पर मुख्यमंत्री शामली के किसान डिग्री कॉलेज पहुंचेंगे. यहां पर सीएम योगी, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ एक जनसभा को संबोधित करेंगे और बीजेपी उम्मीदवार मृगांका सिंह के समर्थन में वोट की अपील करेंगे. सीएम योगी दोपहर करीब दो बजकर बीस मिनट पर किसान डिग्री कॉलेज से प्रस्थान करेंगे.

दोपहर तीन बजे पहुंचेंगे नूरपुर
मुख्यमंत्री करीब दो बजकर पचपन मिनट पर नूरपुर के खालसा इंटर कॉलेज पहुंचेंगे, यहां पर भी सीएम योगी बीजेपी उम्मीदवार अवनी सिंह के समर्थन में रैली को संबोधित करेंगे. इस दौरान उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद भी सीएम योगी के साथ मौजूद रहेंगे. शाम करीब चार बजकर बीस मिनट पर सीएम योगी नूरपुर से प्रस्थान करेंगे और करीब चार बजकर पचास मिनट पर मुरादाबाद की मूढापांडे हवाई पट्टी पहुंचेंगे. 

विरोधियों का गठबंधन नहीं ठगबंधन: केशव मौर्य
उत्तर प्रदेश में विपक्ष के गठबंधन को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या ने ठगबंधन करार दिया है. केशव प्रसाद मौर्या का दावा है कि राज्य की जनता को ठगने के लिए समाजवादी पार्टी और बीएसपी के साथ कई दल एकजुट हुए हैं, लेकिन उपचुनाव में इसका कोई फायदा नहीं होगा. उप मुख्यमंत्री ने भरोसा जताया कि गठबंधन के नाम पर ठगने वालों को इस बार जनता सबक सिखा देगी.