CAA Protest : दिल्ली में आज प्रदर्शन की आशंका, यूपी के कई शहरों में इंटरनेट पर बैन

विरोध प्रदर्शन की आशंका के चलते पुलिस, प्रशासन एतिहातन कई कदम उठाए हैं. 

CAA Protest : दिल्ली में आज प्रदर्शन की आशंका, यूपी के कई शहरों में इंटरनेट पर बैन
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली (Delhi) में आज फिर एक बड़े विरोध प्रदर्शन की आशंका है. विरोध प्रदर्शन की आशंका के चलते पुलिस, प्रशासन एतिहातन कई कदम उठाए हैं. 

वहीं दिल्ली पुलिस ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर को प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी है. चंद्रशेखर ने जामा मस्जिद से जंतर-मंतर तक मार्च की इजाजत मांगी थी. 

दिल्ली मेट्रो ने एतिहात के तौर पर शुक्रवार सुबह दो स्टेशनों- जामिया मिलिया इस्लामिया, जसोला विहार शाहीन बाग को बंद कर दिया था लेकिन अब उन्हें खोल दिया गया है. सीलमपुर में पुलिस की 10 अतिरिक्त कंपनियां तैनात की गई है. 

यूपी के कई शहरों में इंटरनेट बैन
वहीं उत्तर प्रदेश के कई जिलों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. कई जिलों में इंटरनेट (Internet) सेवाएं लागू की गई हैं. यूपी की राजधानी लखनऊ में इंटरनेट और SMS सर्विस पर बैन लगा दिया गया है. इंटरनेट पर एसएमएस पर 21 दिसंबर दोपहर 12 बजे तक के लिए रोक लगाई गई है. 

-गाजियाबाद में गुरुवार (19 दिसंबर) रात 10 बजे से शुक्रवार (20 दिसंबर) रात 10 बजे तक इंटरनेट सेवा बंद रखने को कहा गया है. 
-मथुरा में अगले आदेश तक इंटरनेट सेवाएं बंद की गई हैं. 
-आगार में गुरुवार (19 दिसंबर) रात 12 बजे से शुक्रवार (20 दिसंबर) शाम 6 बजे इंटरनेट पर पाबंदी रहेगी. 
-बरेली में 19 दिसंबर 2019 की रात 11:00 बजे से 21 दिसंबर 2019 की सुबह 10:00 बजे तक इंटरनेट सेवा को बंद किया गया है.
-इसके अलावा अलीगढ़, मऊ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, संभल सिटी एरिया, मेरठ

तीन यूनिवर्सिटी में परीक्षाएं स्थगित
उत्तर प्रदेश के तीन विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है. इनमें इलाहाबाद विश्वविद्यालय, लखनऊ विश्ववविद्यालय,  बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी शामिल हैं. इलाहाबाद जिले में नर्सरी से इंटरमीडिएट तक के स्कूलों में शनिवार तक छुट्टी कर दी गई है. 

वाराणसी जिला प्रशासन की अपील
वाराणसी जिला प्रशासन ने जुम्मा की नमाज के दिन के लिए जनहित में अपील जारी की है. जिला प्रशासन ने कहा है कि सभी मस्जिदों के सम्मानित इमाम साहब अपनी-अपनी मस्जिदों में किसी धार्मिक भावना को न भड़कने दें. नमाज के दौरान कोई भी वक्ता ऐसी बात न बोले या ऐसा बयान न दे जिससे किसी की भावना भड़के.

नमाज के बाद सभी नमाज़ियों को शांति पूर्वक अपने अपने घरों को लौटने की अपील करें. किसी को भी सड़को, चौराहो, गलियो में ना खड़े रहने के लिए बताया जाए . 

समाजवादी पार्टी के नेताओं पर केस दर्ज
19 दिसंबर को हुई हिंसा के मामले में संभल में 17 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज. एफआईआर में समाजवादी पार्टी नेताओं- सांसद शफीकुर रहमान बर्क और फिरोज खान के नाम शामिल है.