कल बुंदेलखंड दौरे पर होंगे CM Yogi Adityanath, 'हर घर तक नल का जल' योजना का करेंगे शुभारंभ

सीएम (CM Yogi adityanath) जल जीवन मिशन की सबसे बड़ी पेयजल योजना का शुभारंभ करने खुद बुंदेलखंड पहुंच रहे हैं, ये इस इलाके के लिए लोगों के लिए बेहद उत्साहजनक बात है. सूबे में पानी की कमी से जूझने वाला इलाका बुंदेलखंड ही है. ऐसे में इस योजना से उसे लाभ मिलना जरूरी है. 

कल बुंदेलखंड दौरे पर होंगे CM Yogi Adityanath, 'हर घर तक नल का जल' योजना का करेंगे शुभारंभ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (file photo)

सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi adityanath) कल बुंदेलखंड दौरे पर होंगे. सीएम योगी यहां सरकार की बेहद महत्वाकांक्षी योजना हर घर नल का जल योजना का शुभारंभ करेंगे. कार्यक्रम में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और यूपी के जल शक्ति महेंद्र सिंह भी कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे.

सीएम दोपहर 12.30 पहुंचेंगे झांसी 
सीएम योगी (CM Yogi adityanath) बुंदेलखंड दौरे के लिए सबसे पहले झांसी जाएंगे. दोपहर 12 बजकर 30 मिनट पर सीएम झांसी पहुंचेंगे. सीएम जल जीवन मिशन की सबसे बड़ी पेयजल योजना का शुभारंभ करने खुद बुंदेलखंड पहुंच रहे हैं, ये इस इलाके के लिए लोगों के लिए बेहद उत्साहजनक बात है. सूबे में पानी की कमी से जूझने वाला इलाका बुंदेलखंड ही है. ऐसे में इस योजना से उसे लाभ मिलना जरूरी है. 

इसे भी पढ़िए: लखनऊ: पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम पर यूपी कांग्रेस का प्रदर्शन, कई कार्यकर्ता हिरासत में 

केंद्र सरकार की योजना है 'हर घर नल का जल'
पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार की ओर से हर घर नल का जल अभियान चलाया जा रहा है. जिसके तहत योजना की शुरुआत करने सीएम योगी (CM Yogi adityanath) बुंदेलखंड पहुंचेंगे. बुंदेलखंड, विंध्याचल, इंसेलाइटिस प्रभावित क्षेत्रों और आर्सेनिक एवं फ्लोराइड प्रभावित इलाकों में हर घर तक नल से जल पहुंचाने की योजना की शुरुआत होगी. पीएम मोदी की अगुवाई में सीएम योगी (CM Yogi adityanath) का अधिकारियों को निर्देश है कि बुंदेलखंड में कोई भी प्यासा नहीं रहे.

10 हजार 131 करोड़ की है परियोजना
हर घर तक नल का जल परियोजना काफी महत्वाकांक्षी है. इस पर कुल 10 हजार 131 करोड़ का बजट खर्च किया जा रहा है. पहले चरण में बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र के लिए 2185 करोड़ की परियोजना की शुरूआत होगी. इससे महोबा, ललितपुर और झांसी की 14 लाख की आबादी तक नल का जल पहुंचेगा. सरफेस वॉटर और अंडरग्राउंट वॉटर के माध्यम से लोगों तक पानी पहुंचाया जाएगा. सरकार की योजना है कि अगले 2 साल के अंदर पहले बुंदेलखंड और फिर विंध्यांचल के हर घर तक पीने का पानी पहुंच सके. 

WATCH LIVE TV