close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हल्द्वानी: डेंगू के डंक ने लोगों को किया परेशान, बेस अस्पताल में 1 साल से फिजिशियन नहीं

बेस अस्पताल में पिछले एक साल से कोई फिजिशियन नहीं है, जिससे ओपीडी प्रभावित हो ही रही है. इसके साथ ही डेंगू, मलेरिया के मरीजों को भी बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. 

हल्द्वानी: डेंगू के डंक ने लोगों को किया परेशान, बेस अस्पताल में 1 साल से फिजिशियन नहीं
फाइल फोटो

हल्द्वानी: हल्द्वानी में डेंगू के डंक से लोग परेशान हैं. पिछले कुछ दिनों में रोज डेंगू के मामले में इजाफा होता जा रहा है. अब तक लगभग 27 मरीजों में डेंगू के बुखार की पुष्टि हो गयी है. बढ़ते डेंगू से स्वास्थ्य महकमा अलर्ट पर है.  सुशीला तिवारी अस्पताल में डेंगू के सभी मरीजों का इलाज चल रहा है. इसके अलावा हल्द्वानी के बेस अस्पताल में 13 बेड का डेंगू वार्ड बनाया गया है.  

लगातार बढ़ते मामलों के देखते हुए बुधवार से हल्द्वानी बेस अस्पताल में एलाइजा टेस्ट भी हो सकेगा. यह परीक्षण ड़ेंगू की पुष्टि के लिए किया जाता है. अभी तक एलाइजा टेस्ट केवल हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में होता था.  डीएम के निरीक्षण के बाद अब बेस अस्पताल में यह सुविधा उपलब्ध होगी. 

लाइव टीवी देखें

वहीं, बेस अस्पताल में पिछले एक साल से कोई फिजिशियन नहीं है, जिससे ओपीडी प्रभावित हो ही रही है. इसके साथ ही डेंगू, मलेरिया के मरीजों को भी बड़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. स्थानीय लोगों ने भी आरोप लगाया है की बेस अस्पताल में कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है, जिसके चलते मरीजों को बाहर रेफेर किया जाता है.  

शहर में बढ़ते डेंगू को देखते हुए नगर निगम दावा कर रहा है कि हर इलाके में फॉगिंग की जा रही है, जिससे मच्छरों और डेंगू के लार्वा को नष्ट किया जा सके.