उत्तर प्रदेश के इस गांव के लिए बहुत अहम है डोनाल्ड ट्रंप का दौरा, यह है वजह

यह गांव बेसब्री से डोनाल्ड ट्रंप के आने का इंतजार कर रहा है. 

उत्तर प्रदेश के इस गांव के लिए बहुत अहम है डोनाल्ड ट्रंप का दौरा, यह है वजह

बस्ती:  अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के भारत दौरे पर दुनिया भर की नजरें टिकी हुई हैं. वहीं उत्तर प्रदेश के बस्ती (Basti) जिले  में एक गांव ऐसा भी है, जिसकी निगाहें राष्ट्रपति ट्रंप के साथ भारत आ रही उनकी बेटी पर है.

दरअसल बस्ती जिले के कलवारी थाना क्षेत्र के बहादुरपुर गांव की रीता बरनवाल (Rita Baranwal) अमेरिका के परमाणु ऊर्जा विभाग की प्रमुख हैं. रीता के रिश्तेदार कहते हैं कि उन लोगों ने अमेरिकी दूतावास में रीता से मिलने की अनुमति मांगी है. अगर अनुमति मिल जाती है तो वे लोग दिल्ली मिलने जाएंगे. अगर वो बस्ती आ सकें तो इससे बेहतर और क्या होगा? 

रीता के अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ भारत आने की खबर से उनके पैतृक गांव में खुशी की लहर है. गांव में उनके रिश्तेदारों ने रीता से मुलाकात की इच्छा जताई है. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की है कि रीता को उनके पैतृक गांव भी आने दें.  

बता दें रीता के पिता कृष्ण चन्द्र बरनवाल काफी समय पहले ही अमेरिका में बस गए थे. रीता ने एमआईटी से पदार्थ विज्ञान एवं अभियांत्रिकी में ग्रैजुएशन किया है और इसके बाद मिशिगन यूनिवर्सिटी से पीएचडी की. पिछले साल जुलाई में ही रीता को परमाणु उर्जा विभाग के प्रमुख पद पर नियुक्त किया गया. गांववाले बताते हैं कि वह 10 वर्ष पहले अपने पैतृक गांव बहादुरपुर आई थी 

वही रीता की अपने परिजनों से मैसेंजर बात हुई रीता है जिसमें उन्होंने अपने परिजनों से मिलने में कुछ असमर्थता जताई है साथ ही कहा तीन महीने बाद गर्मी की छुट्टी में वे अपने पैतृक गांव बहादुरपुर आएंगी.  

रीता के पिता कृष्ण चंद्र बनरवाल ने जिस प्राइमरी स्कूल में शिक्षा प्राप्त की थी वह आज भी  मौजूद हैं. उन्होंने आईआईटी खड़गपुर से टॉप किया था और 1962 में अमेरिका चले गए थे. वही रीता बरवनल का जन्म हुआ थी. रीता की तीन बहने हैं दूसरी बहन सीमा बनरवाल वे पेशे अमेरिका में डॉक्टर हैं.