शामली में डबल मर्डर, जूते के फीते से गला कसकर मां-बेटी की हत्या

मामले की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज जांच पड़ताल शुरू कर दी है. पुलिस ने दावा किया कि जल्द घटना का खुलासा कर दिया जाएगा.

शामली में डबल मर्डर, जूते के फीते से गला कसकर मां-बेटी की हत्या
सूचना के बाद पुलिस मौेके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू की.

शामली: उत्तर प्रदेश के शामली जिले के झिंझाना थाना क्षेत्र के हरिनगर बिडोली गांव में बुधवार (02 जनवरी) की देर रात बदमाशों ने मां-बेटी की जूते के फीते से गला कसकर हत्या कर दी और शवों को बोरे में भरकर ठिकाने लगाने का प्रयास किया. लेकिन, ग्रामीणों के शोर मचाने पर वह सफल नहीं हो सके और फरार हो गए. मामले की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज जांच पड़ताल शुरू कर दी है. पुलिस ने दावा किया कि जल्द घटना का खुलासा कर दिया जाएगा.

पुलिस के मुताबिक, झिंझाना थाना क्षेत्र के हरिनगर बिड़ौली गांव निवासी कमला पत्नी दिवंगत सहंसरपाल और उसकी बेटी सोनू अकेली एक मकान में रहती थी. सोनू शामली के वीवी इंटर कालेज में कक्षा 12 में पढ़ती थी. मां-बेटी अपने जीवन यापन के लिए घर में आटा चक्की चलाती थी. 

बुधवार रात करीब दो बजे ग्रामीणों ने कुछ लोगों को सिर पर बोरी रख कर ले जा देखा और उन्हें चोर समझ कर शोर मचाया. इस पर अन्य ग्रामीण भी मौके पर पहुंचने लगे. लोगों की भीड़ देखकर बदमाश बोरी वहीं फेंक कर खेतों की तरफ भाग गए. ग्रामीणों ने बोली खोली तो उसमें कमला और उसकी बेटी सोनू की लाश मिली. दोनों के गले जूते के फीते से कसे हुए थे.

ग्रामीणों की सूचना पर देर रात पुलिस मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों के शवों को पोसटमार्टम के लिए भेज दिया. सूचना मिलने पर एएसपी अजय प्रताप, सीओ कैराना राजेश तिवारी मौके पर पहुंचे. गुरुवार सुबह डाग स्कॉवयड और फॉरेंसिक जांच टीम ने भी जांच की. वहीं सहारनपुर रेंज के डीआईजी शरद सचान, एएसपी अजय कुमार व ने भी घटना स्थल पर पहुंचकर जांच पड़ताल की और अधिनस्थों को दिशा निर्देश दिए. ग्रामीणों से भी जानकारी जुटाई. 

वहीं झिंझाना थानाध्यक्ष ओपी चौधरी ने बताया कि गले पर फीते के निशान थे. संभवत फीते से ही गला दबाकर हत्या की गई थी. जांच में घर के कमरे से पानी के दो गिलास भी मिले. इससे आशंका है कि दोनों हत्यारे पहले से ही परिवार के परिचित थे. उन्होंने बताया कि मृतका के जेठ के बेटे सतीश निवासी हरिनगर बिडौली ने अज्ञात हत्यारों के खिलाफ हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है. मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

डीआईजी शरद सचान और एसपी अजय कुमार ने बताया कि हत्या की वजह स्पष्ट नहीं है, लेकिन कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है. कुछ अहम जानकारियां मिली हैं. पुलिस को उम्मीद है कि दो तीन दिन में केस का खुलासा हो जाएगा. डीआईजी ने बताया कि सभी एजेंसियों के माध्यम से घटना के खुलासे का प्रयास किया जा रहा है.