ग्रेनो प्राधिकरण के दफ्तर पर किसानों का प्रदर्शन, छावनी में तब्दील हुआ ऑफिस

किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए प्राधिकरण के दफ्तर को छावनी में तब्दील कर दिया गया. खुद एसएसपी भारी संख्या में पुलिस बल लेकर मौजूद रहे.

ग्रेनो प्राधिकरण के दफ्तर पर किसानों का प्रदर्शन, छावनी में तब्दील हुआ ऑफिस
सोमवार को ग्रेनो प्राधिकरण के दफ्तर को किसानों ने घेर लिया और प्रदर्शन किया

ग्रेटर नोएडा: एक बार फिर ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में अपनी मांगों को लेकर किसान सड़कों पर उतरे. कड़कड़ाती ठंड में सोमवार को ग्रेनो प्राधिकरण के दफ्तर को किसानों ने घेर लिया और प्रदर्शन किया.

वहीं, किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए प्राधिकरण के दफ्तर को छावनी में तब्दील कर दिया गया. एहतियात के तौर पर कई थानों की फोर्स को तैनात कर दिया गया. खुद एसएसपी भारी संख्या में पुलिस बल लेकर मौजूद रहे.

किसानों की मांग थी कि अधिग्रहित जमीन के एवज में 64.7 प्रतिशत अतिरिक्त मुआवजा, 10 प्रतिशत आवासीय भूखण्ड और उनके क्षेत्र में बन रही कंपनियों और फैक्टरियों में उनके लोगों को 50 प्रतिशत रोजगार आरक्षण दिया जाए.

प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party of India) की सदस्य वृंदा करात भी पहुंची. इस दौरान उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जिस तरह सरकार का हाल झारखंड में हो रहा है, वही हाल यहां भी होगा. ये सरकार किसानों की अवहेलना कर रही है. वृंदा करात ने चेतावनी दी कि वक्त आने पर किसान सरकार को उनकी अहमियत बताएगा.

वहीं, दिन ढलते ढलते किसान शांत हुए और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के ACEO केके गुप्ता को अपना ज्ञापन सौंपा और धरना खत्म किया.