यूपी बोर्ड का बड़ा खेल, बिना परीक्षा दिए ही पास हो गए फर्रुखाबाद के 2,859 बच्‍चे

जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय की तरफ से बोर्ड की वेबसाइट पर फीड किए गए आंकड़ों और बोर्ड द्वारा जारी परिणाम में बड़ा विरोधाभास है.

यूपी बोर्ड का बड़ा खेल, बिना परीक्षा दिए ही पास हो गए फर्रुखाबाद के 2,859 बच्‍चे
फर्रुखाबाद में यूपी बोर्ड के नतीजों में सामने आया गड़बड़झाला. (फाइल फोटो)

फर्रुखाबाद : उत्‍तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड (यूपी बोर्ड) ने 10वीं और 12वीं के नतीजे 29 अप्रैल को घोषित किए थे. इस बार यूपी बोर्ड ने नकलविहीन परीक्षा कराने का दावा करके अपनी पीठ थपथपाई थी. लेकिन इन परीक्षाओं में एक बड़ा गड़बड़झाला सामने आया है. यूपी बोर्ड की इन परीक्षाओं में फर्रुखाबाद के ऐसे छात्र-छात्राओं को भी पास कर दिया है, जिन्‍होंने इस साल परीक्षा दी ही नहीं थी. इन बच्‍चों की संख्‍या 2,859 है. यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय की तरफ से बोर्ड की वेबसाइट पर फीड किए गए आंकड़ों और बोर्ड द्वारा जारी परिणाम में बड़ा विरोधाभास है. जब इस बाबत जिला विद्यालय निरीक्षक से बात की गई तो अपने ही आंकड़े में खुद उलझ गए और अब जांच कराने की बात कर रहे हैं.

आंकड़े बताते हैं कि इस बार 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं में अनुपस्थित रहे छात्र-छात्राओं को भी बोर्ड ने पास कर दिया. फर्रुखाबाद के इंटरमीडिएट में 16,426 और हाईस्कूल में 22,931 छात्रों ने हिस्‍सा लिया. जबकि बोर्ड की ओर से घोषित परीक्षा परिणाम के अनुसार 19,001 छात्र-छात्राओं ने इंटरमीडिएट और 23,185 छात्र-छात्राओं ने हाईस्कूल की परीक्षा दी. सवाल यह है कि परीक्षा छोड़ चुके इंटर के 2,603 और हाईस्कूल की परीक्षा में 256 छात्र-छात्राएं कब शामिल हो गए? यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किए गए इंटर के छात्र-छात्राओं की संख्या 21,445 थी. इनमें से 5019 ने परीक्षा नहीं दी. शेष 16,426 छात्र-छात्राओं ने पूरी परीक्षाएं दी. जबकि बोर्ड द्वारा घोषित परिणाम के अनुसार 11,927 छात्र व 9490 छात्राओं के सापेक्ष कुल पंजीकृत 21417 का रहा. इनमें से 10,332 छात्रों व 8669 छात्राओं सहित कुल 19,001 ने परीक्षा दी. 

वहीं हाईस्कूल में परीक्षा के दौरान पंजीकृत 27,215 छात्रों में से 4284 छात्र परीक्षा छोड़ गए. जबकि बोर्ड की ओर से घोषित परिणाम के अनुसार इसमें 27,213 छात्र पंजीकृत थे, जिनमें से 23,185 ने परीक्षा दी. इस प्रकार परीक्षा के परिणाम में इंटरमीडिएट के 2603 और हाईस्कूल के 256 छात्रों सहित कुल 2859 छात्र बिना परीक्षा दिए ही बढ़ गए. महत्वपूर्ण बात यह है कि परीक्षा में शामिल होने व छात्रों की परीक्षा छोड़े जाने की सूचना बोर्ड की वेबसाइट पर फीड की गई थी. इसकी हार्ड कापी भी विभाग में उपलब्ध है और इसमें संशोधन करना भी संभव नहीं है. बता दें कि 29 अप्रैल को जारी किए गए यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के नतीजों में 10वीं की परीक्षाओं में 75.16 फीसदी छात्र-छात्राएं पास हुए. जबकि 12वीं की परीक्षा में 72.43 फीसदी छात्र-छात्राओं को सफलता मिली.

ये हैं परीक्षा परिणाम के आंकड़े, जिनमें हुआ गड़बड़झाला

इंटरमीडिएट परीक्षा के समय पंजीकृत संख्या- 21,445

परीक्षा में अनुपस्थित छात्रों की संख्या- 5019

इंटरमीडिएट के परिणाम के समय पंजीकरण- 21,417

इंटरमीडिएट के परिणाम के समय अनुपस्थित छात्र- 2416

अनुपस्थित छात्रों का अंतर- 2603

हाईस्कूल परीक्षा के समय पंजीकरण संख्या- 27,215

परीक्षा में अनुपस्थित छात्रों की संख्या- 4284

हाईस्कूल के परिणाम के समय पंजीकरण- 27,213

हाईस्कूल के परिणाम के समय अनपुस्थित छात्र - 4028

अनुपस्थित छात्रों का अंतर- 256

इंटरमीडिएट और हाईस्कूल के कुल मिलाकर अनुपस्थित छात्रों की संख्या- 2859. यानि कुल मिलाकर 2859 छात्र-छात्राओं को पास कर दिया गया.