close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जिगर के टुकड़े के लिए पिता 15 मिनट आदमखोर तेंदुए से लड़ता रहा, सिर हो गया जख्मी फिर भी बचा ली जान

पीड़ित पिता का कहना है कि उसने अपने बेटे की जान बचाने के लिये आदमखोर तेंदुए (Leopard) से तकरीबन 15 मिनट तक संघर्ष करके तेंदुए (Leopard) के जबड़े से अपने बेटे को छुड़ाया है.

जिगर के टुकड़े के लिए पिता 15 मिनट आदमखोर तेंदुए से लड़ता रहा, सिर हो गया जख्मी फिर भी बचा ली जान
.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

बहराइच,राजीव शर्मा: बहराइच जिले में कतर्निया जंगल से सटे इलाके से एक बड़ा दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जहरं के थाना सुजौली इलाके के रहने वाले कृपा राम नाम के एक युवक पर आदमखोर तेंदुए (Leopard) ने हमला कर उसे बुरी तरह घायल कर डाला, बेटे की चीख पुकार सुनकर पिता त्रिजुगी नारायण मौके पर पहुंचे और संघर्ष करके किसी तरह अपने बेटे को आदमखोर तेंदुए (Leopard) के चंगुल से छुड़ाया.

जानकारी के अनुसार दो साइकिलों पर सवार होकर पिता और पुत्र गिरजापुरी कालोनी की तरफ जा रहे थे इसी दौरान जंगल से निकले तेंदुए (Leopard) ने कृपा राम को अपने जबड़े में दबोच लिया, तेंदुए (Leopard) के हमले में घायल कृपा राम के सिर का पिछला हिस्सा बुरी तरह जख्मी हो गया है जिसे डॉक्टरों ने इलाज के लिये बहराइच मेडिकल कालेज से लखनऊ रिफर किया है.

पीड़ित पिता का कहना है कि उसने अपने बेटे की जान बचाने के लिये आदमखोर तेंदुए (Leopard) से तकरीबन 15 मिनट तक संघर्ष करके तेंदुए (Leopard) के जबड़े से अपने बेटे को छुड़ाया है.