BJP नेता कृष्णानंद राय हत्याकांड में आरोपी हनुमान पांडेय ढेर, मुख्तार गैंग के शूटर पर था 1 लाख का इनाम

हनुमान पांडेय बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के गैंग डी-5 का सबसे सक्रिय सदस्य था. बताया जाता है कि मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या के बाद हनुमान पांडे मुख्तार अंसारी के गैंग का बड़ा शूटर बन गया था.

BJP नेता कृष्णानंद राय हत्याकांड में आरोपी हनुमान पांडेय ढेर, मुख्तार गैंग के शूटर पर था 1 लाख का इनाम
सांकेतिक तस्वीर.

लखनऊ: BJP नेता कृष्णानंद राय हत्याकांड में आरोपी इनामी बदमाश एनकाउंटर में ढेर कर दिया गया है. बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी और माफिया डॉन रहे मुन्ना बजरंगी के करीबी हनुमान पांडेय उर्फ राकेश पांडेय को UP STF  ने मार गिराया है. 1 लाख के इनामी रहे हनुमान पांडेय से यूपी एसटीएफ की लखनऊ के सरोजनीनगर में मुठभेड़ हुई. हनुमान पांडेय मऊ के कोपागंज का रहने वाला था और कई सनसनीखेज वारदातों में शामिल था.

बताया जाता है कि मुन्ना बजरंगी की जेल में हत्या के बाद हनुमान पांडेय मुख्तार अंसारी के गैंग का बड़ा शूटर बन गया था. हनुमान पांडेय बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के गैंग डी-5 का सबसे सक्रिय सदस्य था. वो मुख्तार के साथ मऊ में ठेकेदार अजय प्रकाश सिंह समेत 2 लोगों की हत्या के मामले में भी आरोपी था.

एसटीएफ की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक एक गाड़ी में 5 लोग सवार थे, जिनके हमला करने पर पुलिस टीम ने जवाबी कार्रवाई में फायरिंग की. गोलीबारी में हनुमान पांडेय उर्फ राकेश पांडेय की मौत हो गई है, जबकि 4 लोग भाग निकले.

ये भी पढ़ें: पुलिस के सामने उमाकांत शुक्ला का कबूलनामा, ''राक्षस था विकास दुबे, बिकरू हत्याकांड में मैं भी था शामिल''

BJP नेता कृष्णानंद राय हत्याकांड में था आरोपी 
हनुमान पांडेय चर्चित BJP नेता कृष्णानंद राय हत्याकांड में भी आरोपी था. बता दें कि 2005 में विधायक रहे कृष्णानंद राय की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी. कृष्णानंद राय 2002 में गाजीपुर की मोहम्मदाबाद विधानसभा से विधायक बने थे. वो 29 नवंबर, 2005 को करीमुद्दीनपुर इलाके के सोनाड़ी गांव में एक क्रिकेट मैच के उद्धाटन में पहुंचे थे. बताया जाता है कि उस दिन बारिश हो रही थी और वो अपनी बुलेट प्रूफ कार छोड़ अपने साथियों के साथ सामान्य गाड़ी से चले गए थे. मैच का उद्घाटन करने के बाद शाम करीब 4 बजे वो अपने गांव गोडउर लौट रहे थे कि तभी बसनियां चट्टी के पास उनके काफिले को कुछ लोगों ने घेर लिया और AK 47 से फायरिंग कर दी. इसमें कृष्णानंद राय समेत 7 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी.

400 राउंड फायर हुआ था, 67 गोलियां 7 शवों से मिली थी
पुलिस ने बताया था कि कृष्णानंद राय और उनके साथियों पर करीब 400 राउंड फायरिंग हुई थी, जिसमें 67 गोलियां मरने वाले 7 लोगों के शरीर से मिली थीं. मरने वालों में कृष्णानंद राय के अलावा मोहम्मदाबाद के पूर्व ब्लॉक प्रमुख श्यामाशंकर राय, भांवरकोल ब्लॉक के मंडल अध्यक्ष रमेश राय, अखिलेश राय, शेषनाथ पटेल, मुन्ना यादव और कृष्णानंद राय के बॉडीगार्ड निर्भय नारायण उपाध्याय थे.
इस हत्याकांड में कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने मऊ के विधायक मुख्तार अंसारी, उनके भाई और सांसद अफजाल अंसारी के साथ ही कुख्यात शूटर मुन्ना बजरंगी के खिलाफ हत्या का केस दर्ज करवाया था.

WATCH LIVE TV