कुंभ में होने वाली योगी कैबिनेट बैठक से अपना दल और SBSP ने किया किनारा

मंगलवार को प्रयागराज के दौरे पर योगी सरकार का सम्पूर्ण मंत्रिमंडल रहेगा. इस दौरे में सीएम योगी के साथ दोनों डिप्टी सीएम और कैबिनेट मंत्री, राज्य मंत्री और स्वतंत्र प्रभार मंत्री शामिल होंगे.

कुंभ में होने वाली योगी कैबिनेट बैठक से अपना दल और SBSP ने किया किनारा
फाइल फोटो : PTI

लखनऊः उत्तर प्रदेश में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी और अपना दल (एस) की बीजेपी से तनातनी बरकरार अब खुलकर सामने आ गई है. प्रयागराज में मंगलवार (29 जनवरी) को होने वाली योगी सरकार की कैबिनेट बैठक में इन दोनों ही दलों ने शामिल नहीं होने का निर्णय लिया है. योगी सरकार में मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर का सीएम योगी की कुम्भ कैबिनेट से किया किनारा करते हुए कल वाराणसी दौरे का कार्यक्रम है.  राजभर वाराणसी में दोपहर 2 बजे पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे, ये बैठक पार्टी के विधायक कैलाश नाथ सोनकर के आवास पर होगी.

उधर अपना दल (एस) के मंत्री भी सीएम योगी के कुम्भ स्नान में शामिल नहीं होंगे. अपना दल से जेल राज्य मंत्री जयकुमार जैकी ने भी सीएम के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम से किया किनारा किया है. ऐसे में लोकसभा चुनाव तक यूपी में गठबंधन बनाए रखना बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती दिख रहा है.

मंगलवार को प्रयागराज के दौरे पर योगी सरकार का सम्पूर्ण मंत्रिमंडल रहेगा. इस दौरे में सीएम योगी के साथ दोनों डिप्टी सीएम और कैबिनेट मंत्री, राज्य मंत्री और स्वतंत्र प्रभार मंत्री शामिल होंगे. योगी मंत्रिमंडल 10:30 बजे कुम्भ मेला क्षेत्र पहुंचेगा. सबसे पहले सीएम अपने सभी मंत्रियों के साथ हनुमान मंदिर और अक्षयवट के दर्शन करेंगे. इसके बाद 11 बजे प्रयागराज मेला प्राधिकरण भवन में कैबिनेट की बैठक शुरू होगी. 

सीएम योगी की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में सभी कैबिनेट मंत्री शामिल होंगे. उत्तराखंड बनने के बाद पहली बार लखनऊ से बाहर कैबिनेट बैठक होने जा रही है. कैबिनेट बैठक के बाद पूरा मंत्रिमंडल संगम में स्नान करेगा.  दोपहर 12 बजे से 1 बजे तक सीएम योगी और उनके सभी मंत्री संगम में स्नान करेंगे. 1 बजे के बाद टेंट सिटी में अपने सभी मंत्रियों के साथ सीएम योगी लंच करेंगे. 

इसके बाद योगी सरकार के मंत्री नेत्र कुम्भ अस्पताल का भ्रमण करेंगे. इसके बाद सीएम योगी और उनके मंत्री कुम्भ में सभी प्रमुख संतों से मुलाकात करेंगे.