AMU में हुई हिंसा के नए वीडियो ने बयां की सच्चाई, यूनिवर्सिटी गेट पर कैसे हुई हिंसा

15 दिसंबर को एएमयू कैंपस से छात्रों के साथ भीड़ के द्वारा नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के चलते एहतियातन गेट को बंद किया गया था उस वक्त का यह वीडियो है.

AMU में हुई हिंसा के नए वीडियो ने बयां की सच्चाई, यूनिवर्सिटी गेट पर कैसे हुई हिंसा

अलीगढ़: यूपी में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में 15 दिसंबर को हुई हिंसा का नया वीडियो सामने आया है. ये वीडियो एएमयू के बाबे सैय्यद गेट का है. जहां पर प्रदर्शनकारियों द्वारा गेट को धक्का देने की तस्वीरे देखी जा सकती है.  सीसीटीवी फुटेज सामने आया है जिसमें एएमयू के अंदर से भीड़ गेट को झकझोरते हुए गेट को तोड़कर बाहर आती दिख रही है. वहीं गेट के बाहर एएमयू की प्रोटोरियल टीम और सुरक्षाकर्मी उन्हें रोकने का प्रयास कर रहे हैं.

15 दिसंबर को एएमयू कैंपस से छात्रों के साथ भीड़ के द्वारा नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के चलते एहतियातन गेट को बंद किया गया था उस वक्त का यह वीडियो है.

अलीगढ़ एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा, 'वीडियो में जो दिख रहा है वही सच्चाई बताता है. हमने सुप्रीम कोर्ट में भी हलफनामा में दिया है. छात्रों को कंट्रोल करने के लिए हमने हल्का बल प्रयोग किया. मामला कोर्ट में हैं. छात्रों से अपील है की उनके पास जो वीडियो है वो भी शेयर करें.

उधर यूपी में सीएए के लेकर हुई हिंसा पर यूपी सरकार के मंत्री श्रीकांत शर्मा ने लखनऊ में मीडिया से बात करते हुए कहा, 'जिन जिन लोगों ने बवाल काटा है सबको चिन्हित किया जा रहा है. जिन लोगों की जमीन राज्य में पूरी तरह से खिसक गई है वो लोगों को गुमराह करके राजनीतिक रोटियां सेंकना चाहते थे. लेकिन यहां ऐसा नहीं होगा. जो भी कानून के साथ खिलवाड़ करेगा, पुलिस पर पथराव करेगा. सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाएगा उनको बख्शा नहीं जाएगा. हम उनके आकाओं को भी पकड़ने का प्रयास कर रहे हैं. जिन लोगों ने भी इस शांत प्रदेश में हिंसा फैलाने का काम किया है उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी.'