पड़ोसी से झगड़ा करके कोई भी खुश नहीं रह सकता, पाकिस्तान इसकी मिसाल है: मायावती
X

पड़ोसी से झगड़ा करके कोई भी खुश नहीं रह सकता, पाकिस्तान इसकी मिसाल है: मायावती

मायावती ने कहा, ‘भारत में नेपाल के राजदूत की यह बात समझदारी वाली है कि ’बिमस्टेक’ संगठन दक्षिण ऐशियाई देशों के ’सार्क’ का विकल्प नहीं हो सकता।’

पड़ोसी से झगड़ा करके कोई भी खुश नहीं रह सकता, पाकिस्तान इसकी मिसाल है: मायावती

नई दिल्ली: बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने भाजपा की अगुवाई वाली मोदी सरकार पर दक्षिण एशियाई देशों के संगठन ‘सार्क’ को नजरंदाज करने का आरोप लगाते हुये कहा है कि यह नीति भारत के हित में नहीं है.

मायावती ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, ‘भारत में नेपाल के राजदूत की यह बात समझदारी वाली है कि ’बिमस्टेक’ संगठन दक्षिण ऐशियाई देशों के ’सार्क’ का विकल्प नहीं हो सकता.’

उन्होंने सरकार को सुझाव देते हुए कहा, ‘पड़ोसी से झगड़ा करके कोई भी खुश नहीं रह सकता. खुद पाकिस्तान इसकी मिसाल है, जिसके रिश्ते उसके पड़ोसी देशों के साथ अच्छे नहीं है और वह गर्त में जा रहा है.’

मायावती का इशारा 30 मई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में सार्क देशों के बजाय बिम्सटेक के सदस्य देशों को आमंत्रित करने की ओर है. उल्लेखनीय है कि तकनीकी और आर्थिक सहयोग के लिए गठित संगठन ‘बिम्सटेक’ में भारत के अलावा दक्षिण एशिया के छह देश सदस्य है. इनमें बांग्लादेश, भूटान, भारत, म्यांमार, नेपाल, थाईलैंड और श्रीलंका शामिल हैं.

Trending news