close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

महिलाओं को नहीं पुरुषों को लूटता था ये गैंग, 4 साल में की 200 से ज्यादा लूटपाट

बदमाशों ने बताया कि वह अक्सर महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को निशाना बनाते थे. वहीं, अगर लूट के दौरान कोई ये कहता था कि मैं पत्रकार हूं तो उसे ज्यादा मारते थे. इसी के चलते लूट के दौरान 4 पत्रकारों को गोली भी मारी थी.

 महिलाओं को नहीं पुरुषों को लूटता था ये गैंग, 4 साल में की 200 से ज्यादा लूटपाट
पुलिस ने बताया कि वह लग्जरी कार से लूटपाट करते थे.

नोएडा: नोएडा पुलिस और क्राइम ब्रांच ने बीते 4 साल के दौरान 200 से ज्यादा लूट की वारदात को अंजाम देगे वाले एक गैंग को पकड़ा है. गैंग के पास से तीन महंगी लग्जरी कारें बरामद की गई हैं. वहीं नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 15 से ज्यादा फ्लैट होने की जानकारी मिली है. पकड़े गए बदमाशों ने बताया है कि वह महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को अपना शिकार बनाते थे. वहीं अगर लूट के दौरान कोई यह कहता था कि वह पत्रकार है तो उसे ज्यादा मारते थे. इसी के चलते लूट के दौरान 4 पत्रकारों को गोली भी मारी थी.

लग्जरी कार से करते थे लूटपाट
पहले लाल सेंट्रो फिर आई-10 और नीले रंग की बलेनो कार से हो रही लूटपाट की घटनाओं से नोएडा पुलिस परेशान हो चली थी. लग्जरी कारों में घूमने वाले बदमाश लगातार लोगों को लूट रहे थे. खास बात ये थी कि लग्जरी कार में बैठे बदमाश पता पूछने के बहाने जाते हुए राहगीर को रोकते थे और जब वह पता बताने की कोशिश करता था तो उसे लूट लेते थे.

लाइव टीवी देखें

नोएडा-ग्रेटर नोएडा में किराए पर ले रखे थे 15 फ्लैट
बदमाश एक दिन में तीन से चार घटनाओं को अंजाम देने के बाद फरार हो जाते थे. पुलिस शहर में वाहन चेकिंग करती रह जाती थी, लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं मिलता था. इस बारे में पूछताछ के दौरान बदमाशों ने बताया कि उन्होंने नोएडा और ग्रेटर नोएडा में 15 से ज्यादा फ्लैट किराए पर ले रखे थे. जिस इलाके में भी वारदात करते थे, उसके बाद पास में किराए पर ले रखे अपने फ्लैट में घुस जाते थे. लूटे गए माल को वहीं छिपा देते थे. कार को सोसाइटी की पार्किंग में खड़ी कर देते थे और उसके बाद अपनी पर्सनल वरना कार से बेफ्रिक होकर घूमते थे. और जब मामला ठंडा पड़ जाता था तो लूट के माल को परिचित सुनार को 30 प्रतिशत कमीशन पर बेच देते थे.