काशी महाकाल एक्सप्रेस में यह सीट भगवान शिव के लिए रिजर्व्ड

 20 फरवरी से आम नागरिक इस ट्रेन की सवारी कर सकेंगे. इस ट्रेन का संचालन भी आईआरसीटीसी करेगा. काशी-महाकाल एक्सप्रेस वाराणसी से इंदौर वाया उज्जैन के बीच चलेगी.

काशी महाकाल एक्सप्रेस में यह सीट भगवान शिव के लिए रिजर्व्ड
काशी महाकाल एक्सप्रेस में स्पेशल सीट

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की तीसरी प्राइवेट ट्रेन 'काशी-महाकाल एक्सप्रेस' की सौगात देश को दे दी. 20 फरवरी से आम नागरिक इस ट्रेन की सवारी कर सकेंगे. इस ट्रेन का संचालन भी आईआरसीटीसी करेगा. काशी-महाकाल एक्सप्रेस वाराणसी से इंदौर वाया उज्जैन के बीच चलेगी. यह ट्रेन तीन ज्योर्तिलिगों वाराणसी में काशी विश्वनाथ, उज्जैन में महाकालेश्वर और इंदौर के पास ओंकारेश्वर को जोड़ेगी. इस खास ट्रेन में भगवान शिव भी सफर करेंगे.

रेलवे ने भगवान शिव के लिए B5 कोच में 64 नंबर बर्थ उन्हें अलॉट किया है. इस सीट को छोटे मंदिर के तौर पर तब्दील कर दिया गया है.

इतना ही नहीं काशी महाकाल एक्सप्रेस में धार्मिक यात्रियों का खास ख्याल रखा गया है. इसमें चलने वाले यात्रियों के मनोरंजन और अध्यात्मिक अहसास के लिए भजन-कीर्तन का आयोजन भी किया जा रहा है. शुरुआती दिन में एक मंडली जाएगी, जो भजन-कीर्तन गाएगी. इसके बाद 20 फरवरी को भी एक मंडली का आयोजन होगा. इसके बाद लगातार कैसेट के जरिए अनांउसमेंट से लोग भजन-कीर्तन सुन सकेंगे.

वाराणसी से इंदौर के बीच 20 फरवरी से चलाई जाने वाली काशी-महाकाल एक्सप्रेस में आठ अलग-अलग तीर्थस्थलों के लिए पैकेज भी होगा. वाराणसी, अयोध्या, प्रयागराज, इंदौर, उज्जैन, भोपाल के धार्मिक व पर्यटन स्थलों के लिए आईआरसीटीसी ने एक पैकेज भी तैयार किया है.