कासगंज में ट्रिपल मर्डर के बाद बिगड़े हालात, आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर किया पथराव

लोगों का आरोप है कि घटना की जानकारी रात में ही पुलिस को दे दी, लेकिन पुलिस तड़के सवेरे पहुंची. इसी बात से नाराज लोगों ने पुलिस के आने से पहले ही तीनों मृतकों के शवों को लेकर सड़क पर रखकर जाम लगा दिया. 

 कासगंज में ट्रिपल मर्डर के बाद बिगड़े हालात, आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर किया पथराव
घटना के बाद गुस्साए लोगों ने पुलिस पर पथराव किया.

नई दिल्ली/कासगंज: उत्तर प्रदेश के कासगंज में गुरुवार (11 मई) को देर रात हुए ट्रिपल मर्डर से नाराज लोगों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया और शव रखकर जाम लगा दिया. मामले को शांत करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा. कासगंज जनपद के थाना सहावर मुहल्ले के नवीनगर में बदमाशों ने रेलवे स्टेशन के सामने बने घरों पर हमला बोला था, जिसमें तीनों लोगों को मौत के घाट उतार पांच लोगों को घायल कर दिया था. लोगों का आरोप है कि घटना की जानकारी रात में ही पुलिस को दे दी, लेकिन पुलिस तड़के सवेरे पहुंची. इसी बात से नाराज लोगों ने पुलिस के आने से पहले ही तीनों मृतकों के शवों को लेकर सड़क पर रखकर जाम लगा दिया. 

क्या था मामला
जानकारी के मुताबिक, कासगंज के कस्बा सहावर में बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम देने के लिए एक मकान में डाका डाला और परिवार के तीन लोगों की हत्या कर दी. बदमाश घर से लाखों रुपए के नगदी जेवरात लूटकर ले कर फरार हो गए. 

Ruckus after triple murder in kasganj, Voilent protest by the mob

पुलिस को करना पड़ा लाठीचार्ज
आक्रोशित भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू किया तो पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले दागे पड़े. मौके पर तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. भीड़ ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की.

देरी से पहुंची पुलिस
लोगों का आरोप हैं कि घटना के बाद स्थानीय पुलिस को सूचना दी गई, लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की. पुलिस शुक्रवार (11 मई) को सुबह पहुंची, जिसके बाद आक्रोशित लोगों ने तीनों मृतकों का शव रखकर, पुलिस पर जमकर पथराव किया. 

Ruckus after triple murder in kasganj, Voilent protest by the mob

डीएम और एसएसपी भी मौके पर पहुंचे
हालात बिगड़ते देख डीएम और एसएसपी भी मौके पर पहुंच गए हैं और लोगों को शांत करवाने की कोशिश की जा रही है. पुलिस के मुताबिक, शुरुआती जांच में ऐसा प्रतीत हो रहा है कि लूट-पाट की घटना को अंजाम देने के लिए हत्या की गई है. आपको बता दें कि तीनों शवों को चारपाई से बांधकर सरिया से मारकर हत्या की गई है. शक की पहली सुई बावरिया गैंग की तरफ घूम रही है.