कासगंज हिंसाः चंदन गुप्ता के पिता को मिली धमकी के बाद पुलिस ने बढ़ाई घर की सुरक्षा

थाने में सुशील गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि कुछ अजारक तत्वों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है.

कासगंज हिंसाः चंदन गुप्ता के पिता को मिली धमकी के बाद पुलिस ने बढ़ाई घर की सुरक्षा
कासगंज में चंदन गुप्ता के घर के बाहर तैनात पुलिस अधिकारी (फोटो साभार: ANI)

कासगंजः कासगंज में भड़की हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता के घर की सुरक्षा को पुलिस ने बढ़ा दिया है. दरअसल गुरुवार को चंदन गुप्ता के पिता सुशील गुप्ता कासगंज पुलिस थाने पहुंचे थे. थाने में सुशील गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराते हुए कहा कि कुछ अजारक तत्वों ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है. इस धमकी के बाद उनके परिवार में खौफ का माहौल है. सुशील गुप्ता की शिकायत के बाद पुलिस अधिकारी ने घर की सुरक्षा को बढ़ा दिया है. 

बाइक सवारों ने दी धमकी
जी मीडिया से बातचीत के दौरान चंदन के पिता सुशील गुप्ता ने कहा कि जब वह अपने घर के बाहर बैठे हुए थे, तभी दो बाइक सवार उनके पास आए और कहा 'तुमने पुलिस के पास जाकर अच्छा काम नहीं किया'. सुशील गुप्ता ने कहा कि जब तक वह कुछ समझ पाते तब तक बाइक सवार वहां से फरार हो गए. चंदन के पिता ने कहा कि इस वक्त उन्हें अपने परिवार की सुरक्षा और दूसरे बेटे की चिंता सता रही है.

यह भी पढ़ें : कासगंज हिंसा: डीएम बोले- छत से चली गोली से हुई चंदन की मौत

यह भी पढ़ें : कासगंज हिंसा के लिए पाकिस्‍तान समर्थक जिम्‍मेदार: बीजेपी नेता विनय कटियार

मुख्य आरोपी को पुलिस ने हिरासत में लिया
31 जनवरी को चंदन गुप्ता की हत्या के आरोपी सलीम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. सलीम पर चंदन को गोली मारने का आरोप है. ऐसा बताया जा रहा है कि सलीम की गोली से ही चंदन की मौत हुई थी. आपको बता दें कि 26 जनवरी को कासगंज में तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा में चंदन गुप्ता को गोली मारी गई थी. जिससे उनकी मौत हो गई थी. इस मामले के बाद शहर में कई हिंसक वारदात हुई. तीन दिन तक कासगंज में कर्फ्यू लगा दिया गया था. जबकि अभी तक कासगंज में धारा 144 लगी हुई है. 

यह भी पढ़ें : कासगंज हिंसा : मृतक चंदन के परिजनों को 20 का लाख मुआवजा, CM योगी ने की घोषणा

हिंसा के बाद पूरे कासगंज में सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद कर दी कई है. (फाइल फोटो)
कासगंज में हुई हिंसा में मारा गया था चंदन गुप्ता (फाइल फोटो)

गोली लगने से हुई थी चंदन की मौत
26 जनवरी की सुबह कासगंज में ‘वन्देमातरम’और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाते हुए हाथों में तिरंगा झंडा लिए कुछ युवा मोटरसाइकिलों से जुलूस निकाल रहे थे. लेकिन जुलूस जैसे ही अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र बड्डूनगर में पहुंचा तो कुछ उपद्रवी तत्वों ने बाइक सवारों पर पथराव और फायरिंग कर दी. इस फायरिंग में दो युवक अभिषेक गुप्ता उर्फ चन्दन एवं नौशाद घायल हो गए. घायल चंदन को सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई.

यह भी पढ़ें : कासगंज हिंसा : चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं सुरक्षा बल, डीएम-एसपी से जानें कैसे हैं शहर के हालात

चंदन के पिता ने डीएम पर भड़के
सोमवार को मृतक चंदन के घर पर डीएम आरपी सिंह सहित अन्य आला अधिकारी पहुंचे थे. डीएम ने जब चंदन के पिता को 20 लाख रुपए का चेक देने की कोशिश की तो वे भड़क गए. उन्होंने अफसरों को फटकारने के अंदाज में खरी-खरी सुना दी. अधिकारियों ने करीब आधे घंटे तक मृतक के पिता को समझाया, जिसके बाद वे चेक लेने को तैयार हुए.

 

 

पटरी पर लौट रही कासंज की गाड़ी
चंदन गुप्ता के पिता को मिली धमकी के बीच यूपी पुलिस ने इलाके की कुछ तस्वीरें शेयर की है. इन तस्वीरों को शेयर करके यूपी पुलिस ने दावा किया है कि कासगंज में जिंदगी अब पटरी पर लौट रही है और तनावपूर्ण हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं.

सगंज के SP हटाए गए
कासगंज हिंसा के मामले में सरकार ने सोमवार को पुलिस अधीक्षक को हटा दिया. सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि कासगंज के पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह को हटा दिया गया है. उनके स्थान पर पीयूष श्रीवास्तव को पुलिस कप्तान बनाया गया है.