बेसिक शिक्षा विभाग में एक ही पैन पर काम कर रहे हैं 2500 शिक्षक, STF करेगी जांच

बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में एक ही पैन नंबर पर काम कर रहे ढाई हजार से अधिक शिक्षकों की जांच शासन ने एसटीएफ (STF) को सौंपी दी है.

बेसिक शिक्षा विभाग में एक ही पैन पर काम कर रहे हैं 2500 शिक्षक, STF करेगी जांच
प्रतीकात्मक फोटो

बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में एक ही पैन नंबर पर काम कर रहे ढाई हजार से अधिक शिक्षकों की जांच शासन ने एसटीएफ (STF) को सौंपी दी है. परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों का डाटा मानव संपदा पोर्टल और प्रेरणा एप पर अपलोड कराने के बाद अब तक ढाई हजार ऐसे शिक्षक सामने आएं हैं, जिन्होंने पैन नंबर बदला है.

दो शिक्षकों का वेतन जा रहा था एक ही बैंक खाते में 
सौ से अधिक ऐसे मामले भी सामने आएं हैं, जिनमें दो शिक्षकों का वेतन एक ही बैंक खाते में जा रहा था. बेसिक शिक्षा विभाग ने मामले की जांच के लिए गृह विभाग को पत्र लिखा था. गृह विभाग ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर एसटीएफ (STF) को जांच सौंपी है

इसे भी पढ़िए: आगरा में B.Ed की फर्जी डिग्री लगाकर नौकरी कर रहे 24 शिक्षकों की सेवा समाप्त, दर्ज हुई FIR

डेटा सत्यापन के दौरान खुल रहे हैं कई राज
बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार ने साल 2019 में विभाग में मानव संपदा पोर्टल और प्रेरणा ऐप (prerna app) को लागू किया था. उन्होंने परिषदीय स्कूल में काम कर रहे शिक्षकों प्रेरणा ऐप (prerna app) और मानव संपदा पोर्टल पर अपना डेटा अपलोड करने के निर्देश दिए थे. इसके सत्यापन की तारीख 30 जून तक रखी गई थी. हालांकि इसे बढ़ाकर अब 15 जुलाई कर दिया गया है. प्रेरणा ऐप (prerna app) और मानव संपदा पोर्टल पर डेटा अपलोड होने के बाद 2008 से 2019 के बीच करीब ढाई हजार शिक्षकों के पैन नंबर बदलने का मामला उजागर हुआ है. उन्होंने नियुक्ति के समय जो पैन नंबर दिया था, वह उसी नाम के किसी अन्य शिक्षक के नाम पर दर्ज था. माना जा रहा है कि 15 जुलाई तक डेटा सत्यापन होने के बाद ऐसे और भी कई मामले सामने आने आ सकते हैं. 

WATCH LIVE TV