कानपुर: 'बेरोजगारी पर ताने अब बर्दाश्त नहीं...' इमोशनल बातें दीवार पर लिखकर छात्रा ने लगाई फांसी

छात्रा ने लिखा है, मम्मा एंड पापा मैं बहुत परेशान हो चुकी हूं, अपनी लाइफ से. मुझे ऐसे घर में बैठे नहीं रह रहा है. अनएम्लॉयड होने की वजह से लोगों के ताने अब मुझे बर्दाश्त नहीं हो रहे हैं. लव यू मम्मा एंड पापा... लव यू ब्रो, योर डॉटर!'

कानपुर: 'बेरोजगारी पर ताने अब बर्दाश्त नहीं...' इमोशनल बातें दीवार पर लिखकर छात्रा ने लगाई फांसी
छात्रा ने दीवार पर सुसाइड नोट लिखा है...

नई दिल्ली/कानपुर, (राजेश एन अग्रवाल): कुछ बनने की ललक में प्रतियोगी परीक्षा दे रही थी. रोज नई उम्मीद के साथ, एक नए जोश के साथ लेकिन लगातार मिल रही असफलताओं से हारकर कानपुर की एक छात्रा ने  फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बर्रा थाना क्षेत्र स्थित आजाद कुटिया का है. जहां राजेंद्र गुप्ता की बेटी आकांक्षा ने दीवार पर मार्मिक सुसाइड नोट लिखकर खुद को खत्म कर लिया. सुसाइड की सूचना पर पहुची पुलिस ने जाँच पड़ताल कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा. घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है. 

student committed suicide due to unemployment in kanpur

छात्रा ने दीवार पर लिखा है, मम्मा एंड पापा मैं बहुत परेशान हो चुकी हूं, अपनी लाइफ से. मुझे ऐसे घर में बैठे नहीं रह रहा है. अनएम्लॉयड होने की वजह से लोगों के ताने अब मुझे बर्दाश्त नहीं हो रहे हैं. लव यू मम्मा एंड पापा... लव यू ब्रो, योर डॉटर!'

ये भी पढ़ें: कानपुर : किराये के मकान में मिला महिला सिपाही का शव, पुलिस महकमे में हड़कंप

घटना की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि गुरुवार (06 सितंबर) को कारोबारी की पत्नी पूनम अपने बेटे आशू के साथ नौबस्ता में रहने वाली बहन शांति के घर गई थी. आकांक्षा घर पर अकेली थी, जब मां-बेटे घर वापस लौटे तो आकांक्षा का शव उसके कमरे में फंदे से झूल रहा था. दरवाजा तोड़ कर छात्रा के शव को बाहर निकाला गया और इसके बाद परिवार ने पुलिस को सूचना दी. 

स्थानीय लोगों ने बताया कि आकांक्षा सालों से एसएससी और बैंक की तैयारी कर रही थी. लेकिन, उसे सफलता नहीं मिल रही थी जबकि उसके साथ की कई लडकियों का सेलेक्शन हो चुका है. इसी वजह से वो तनाव में थी. इस पूरे मामले पर परिजन फिलहाल कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है. पुलिस ने मामले की जांच कर रही है.