रायबरेली: बाल संरक्षण गृह में बच्चों ने महिला टीचर को पीटा, CCTV में कैद हुई घटना

पीड़िता के अनुसार, सोमवार को जब वो केंद्र पर गई तो छात्रों ने उससे अभद्रता की. इसके बाद उसके साथ मारपीट की और कुर्सी से हमला कर दिया. 

रायबरेली: बाल संरक्षण गृह में बच्चों ने महिला टीचर को पीटा, CCTV में कैद हुई घटना
पीड़िता का कहना है कि पुलिस ने उसकी एक नहीं सुनी. जिसके बाद वह जिलाधिकारी से गुहार लगाने पहुंची. अधिकारी के वहां मौजूद न होने के कारण उसे मायूसी ही हाथ लगी.

विवेक श्रीवास्तव/रायबरेली: रायबरेली जिले के मिल एरिया थाना क्षेत्र के चक धरोहरा में संचालित गांधी सेवा निकेतन बाल संरक्षण गृह अराजकता का घर बना हुआ है. ताजा मामला उस समय सामने आया जब यहां पर कार्यरत बाल संरक्षण अधिकारी ममता दुबे की एक छात्र ने पिटाई कर दी. मारपीट का प्रकरण वहां पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया.

दरअसल, गांधी सेवा निकेतन बाल संरक्षण गृह पिछले कई माह से चर्चा का केंद्र बना हुआ है. यहां पर बाल संरक्षण अधिकारी के पद पर कार्यरत ममता दुबे ने संस्था के प्रबंधक पर कम वेतन देने का आरोप लगाया था. जिससे नाराज होकर प्रबंधक ने उसे नौकरी से निकाल दिया. पीड़िता ने जिलाधिकारी से गुहार लगाई, तो दबाव में उसे फिर नौकरी पर रखा गया. इसके बाद से प्रबंधक की शह पर वहां रह रहे बालक उसे परेशान करने लगे. बीते शनिवार को जब वो शौच के लिए गई थी, तो बाहर से शौचालय की कुंडी बंद कर दी गई. इसकी शिकायत करने जब वो प्रबंधक के कार्यालय गई तो वहां ताला बंद था. 

वहीं, पीड़िता के अनुसार, सोमवार को जब वो केंद्र पर गई तो छात्रों ने उससे अभद्रता की. इसके बाद उसके साथ मारपीट की और कुर्सी से हमला कर दिया. ये सब वहां लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया. पीड़िता घबराकर वहां से भागी और थाने पहुंची. पीड़िता का कहना है कि पुलिस ने उसकी एक नहीं सुनी. जिसके बाद वह जिलाधिकारी से गुहार लगाने पहुंची. अधिकारी के वहां मौजूद न होने के कारण उसे मायूसी ही हाथ लगी. 

पीड़िता ममता दुबे का कहना है कि मैनेजर कुछ छात्रों को लगातार उकसा रहे हैं. जिसके परिणामस्वरूप बीते दिनों केंद्र के कुछ छात्रों ने उसे शौचालय में बंद कर दिया. हालात इतने बिगड़ गए कि कुछ छात्रों ने उसके साथ मारपीट की. महिला ने सिटी मजिस्ट्रेट युगराज सिंह से मिलकर पूरे मामले की शिकायत की है.