close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चुनाव में राज्य और केंद्र के खिलाफ नहीं थी कोई सत्ता विरोधी लहर: योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नकारात्मक राजनीति करने वाला विपक्ष अपने गढ़ भी नहीं बचा पाया.

चुनाव में राज्य और केंद्र के खिलाफ नहीं थी कोई सत्ता विरोधी लहर: योगी आदित्यनाथ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि यह पहला ऐसा चुनाव था जिसमें केंद्र या राज्य सरकार के खिलाफ कोई ‘सत्ता विरोधी लहर’ नहीं थी. योगी ने कहा कि नकारात्मक राजनीति करने वाला विपक्ष अपने गढ़ भी नहीं बचा पाया. हर हाल में नरेंद्र मोदी को रोकने के लिए उत्तर प्रदेश से लेकर आंध्र प्रदेश तक कवायदें चल रही थीं लेकिन सभी की सभी धाराशाही हो गईं.

उन्होंने कहा कि यह ‘अंडर करंट’ चुनाव के दौरान भी देखने को मिला रहा था और हम कहते थे कि बीजेपी को राज्य में 60 से 65 के बीच सीटें मिलेंगी. 2014 में बीजेपी के पक्ष में 42.3 प्रतिशत मतदान हुआ था जिसे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने लगभग 51 प्रतिशत तक पहुंचाया और बीजेपी और उसके सहयोगियों ने 64 सीटों पर सफलता प्राप्त की.

'कोई ‘सत्ता विरोधी लहर’ नहीं थी'
योगी ने लोकसभा चुनाव के बाद शुक्रवार शाम बीजेपी कार्यालय में आयोजित अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में कहा कि 'यह पहला चुनाव था जिसमें केंद्र या प्रदेश सरकार के खिलाफ कोई ‘सत्ता विरोधी लहर’ नहीं थी. हर चुनाव में मंहगाई, बिजली, कानून व्यवस्था, सड़क मुद्दा होता था लेकिन इस चुनाव में ये मुद्दे गायब थे.'

योगी ने कहा, 'विपक्ष नकारात्मक राजनीति कर रहा था. जब जनहित से जुड़े किसी मुद्दे को लेकर बात नहीं बन पायी तो उन्होंने व्यक्तिगत टीका टिप्पणी प्रारंभ कर दी और अंतत: हताश..निराश विपक्ष बुरी तरह से धाराशाही हुआ.'

उन्होंने कहा, ‘राज्य में राष्ट्रीय अध्यक्ष (अमित शाह) द्वारा 51 प्रतिशत वोट प्राप्त करने का लक्ष्य दिया गया था जिसे प्राप्त करने के लिए रणनीति बनाकर कार्य शुरू किया गया. बीजेपी और उसके सहयोगियों ने 64 सीटों पर सफलता प्राप्त की. इस चुनाव में उप्र में बीजेपी का मत प्रतिशत बढ़ा है. 2014 में बीजेपी के पक्ष 42.3 प्रतिशत मतदान हुआ था जिसे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने लगभग 51 प्रतिशत तक पहुंचाया है.'

'प्रदेश की जनता ने परिवारवाद को खारिज' 
योगी ने विपक्ष को घेरते हुए कहा कि 'जो लोग कहते थे कि प्रदेश के अंदर जातीय समीकरण बीजेपी के विरुद्ध हैं लेकिन पूर्वानुमानों को धता बताते हुए प्रदेश की जनता ने परिवारवाद, वंशवाद, जातिवाद की राजनीति को खारिज करते हुये विकास को, राष्ट्रवाद को प्राथमिकता देते हुए यह साबित किया जो विकास करेगा, जो देश की सुरक्षा के मुद्दे पर प्रभारी कार्रवाई करेगा उसे जनता का समर्थन और सहयोग प्राप्त होगा.

योगी ने प्रदेश की कानून व्यवस्था की तारीफ करते हुए कहा,‘चुनाव के दौरान कानून व्यवस्था की कोई समस्या नहीं आई. प्रदेश में एक भी बूथ पर दोबारा मतदान की नौबत नहीं आई.' उन्होंने कहा कि 'प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) ने शुरू में कहा था कि चुनाव के परिणाम जो भी हों लेकिन हमें चुनाव विकास, सुशासन और राष्ट्रवाद के मुद्दे पर केंद्रित करके लड़ना है. नकारात्मक राजनीति के लिए कोई जगह नहीं होनी चाहिये.’

योगी ने जीते हुये प्रदेश के सांसदों को बधाई दी तथा पार्टी कार्यकर्ताओं को भी धन्यवाद दिया.