WhatsApp की नई पॉलिसी, एक्सेप्ट नहीं किया तो डिलीट हो जाएगा अकाउंट

WhatsApp’s new privacy policy: यूजर्स को अपना अकाउंट जारी रखने के लिए नई पॉलिसी को एक्सेप्ट करना जरूरी

 WhatsApp की नई पॉलिसी, एक्सेप्ट नहीं किया तो डिलीट हो जाएगा अकाउंट

नई दिल्ली:  WhatsApp अपने यूजर्स के लिए नए-नए फीचर्स लेकर आता रहता है. इस साल ऐप में कई फीचर्स आने वाले हैं. लेकिन इससे पहले WhatsApp ने भारतीय वॉट्सऐप यूजर्स को अपनी टर्म्स और प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर अपडेट भेजना शुरू किया है. WhatsApp जल्द ही अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी लेकर आने वाला है. अगर यूजर्स इस पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करते हैं तो उन्हें ऐप डिलीट करना होगा.

पॉलिसी को करें एक्सेप्ट नहीं तो अकाउंट हो जाएगा डिलीट
वॉट्सऐप के करोड़ों यूजर्स को कंपनी की ओर से नोटिफिकेशन जारी किया गया है. इस नोटिफिकेशन में सेवा की शर्तों और प्राइवेसी पॉलिसी में बदलावों को स्वीकार करने के लिए कहा गया है. इसके साथ ये भी कहा गया है कि यदि यूजर 8 फरवरी तक ऐसा नहीं करते हैं तो कंपनी उनके अकाउंट को डिलीट कर देगी.

क्या है नई पॉलिसी
वॉट्सऐप के नए नियम और शर्तों में कहा गया है कि अब आपके डेटा को फेसबुक (Facebook) और इंस्टाग्राम (Instagram) जैसे सोशल मीडिया के साथ ज्यादा इंटेग्रेट किया जाएगा. यानी अब वॉट्सऐप का डेटा फेसबुक और इंस्टाग्राम में भी इस्तेमाल हो सकेगा.

कानपुर बिकरू कांड का आखिरी आरोपी विपुल दुबे गिरफ्तार, 50 हजार का था इनाम

यूजर पर क्या असर होगा?
ये तय हो चुका है कि आप वॉट्सऐप चलाते हैं तब ये पॉलिसी एग्री करना ही होगी. यानी न चाहते हुए भी आपको अपने वॉट्सऐप (WhatsApp) की प्राइवेसी कंपनी के साथ शेयर करना होगी. नई पॉलिसी के नोटिफिकेशन में उसने साफ लिखा है कि अब वॉट्सऐप आपकी हर सूचना अपनी पेरेंट कंपनी फेसबुक और इंस्टाग्राम के साथ शेयर करेगा.

8 फरवरी से लागू होगा वॉट्सऐप का ये नियम
वॉट्सऐप की ये नई सेवा शर्तें और प्राइवेसी पॉलिसी 8 फरवरी से लागू हो जाएगी. मोबाइल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ने कहा कि वो अपनी सेवाओं को संचालित करने, उपलब्ध करने, सुधारने, समझने, कस्टमाइज करने, सपोर्ट करने और मार्केटिंग में मदद करने के लिए थर्ड-पार्टी सर्विस प्रोवाइडर और अन्य फेसबुक कंपनियों के साथ काम करता है. इसमें आगे कहा गया है, “ये कंपनियां हमें कुछ खास परिस्थितियों में आपके बारे में जानकारी प्रदान कर सकती हैं. 

वॉट्सऐप ने ऐसा फैसला क्यों लिया?
इस पॉलिसी को एग्री करने के बाद वॉट्सऐप अपनी 200 करोड़ से ज्यादा यूजर्स का डेटा एक्सेस कर पाएगी. यानी वो उनके डेटा को दूसरे प्लेटफॉर्म पर शेयर भी कर पाएगी.

बेसिक शिक्षा का 2021 हॉलिडे कैलेंडर जारी, पहली बार स्कूलों में होगी श्रीगुरु तेग बहादुर शहीद दिवस की भी छुट्टी

यूजर्स के पास है ये ऑप्शन

WhatsApp में यूजर्स के पास अभी Not Now का ऑप्शन है. मतलब अगर यूजर्स चाहें तो इसे एक्सेप्ट न करें. एक्सेप्ट न करने पर ऐप चलता रहेगा. 

पहले भी साझा होता था डेटा

इससे पहले भी  WhatsApp का डेटा पहले भी फेसबुक के साथ साझा हो रहा था, लेकिन अब फेसबुक के साथ WhatsApp और Instagram का इंटीग्रेशन पहले से ज्यादा होगा.

वॉट्सऐप का स्टेटस भी सुरक्षित नहीं
अब आने वाले समय में आपके लगाए गए स्टेटस पर नजर रहेगी. मान लीजिए यदि आपने लिखा- बताओ कौन सी गाड़ी खरीदूं तो फेसबुक-इंस्टाग्राम भी इसे पढ़ेंगे और आपको कार, बाइक के विज्ञापन दिखने लगेंगे. मतलब आर जैसा स्टटेस डालेंगे वैसा ही विज्ञापन आपके सामने आने लगेगा. आपको शॉपिंग करने, संबंधित ऑफर दिखाने, फेसबुक कंपनियों के प्रोडक्ट के विज्ञापन दिखाने जैसे काम कर सकता है.

बेसिक शिक्षा का 2021 हॉलिडे कैलेंडर जारी, पहली बार स्कूलों में होगी श्रीगुरु तेग बहादुर शहीद दिवस की भी छुट्टी

WATCH LIVE TV