close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIRAL हो रहे ट्वीट को DGP ओपी सिंह ने बताया अफवाह, अमेठी पुलिस को सौंपी गई जांच

इस मामले को लेकर कई लोगों के ट्वीट वायरल हो रहे हैं, जिसमें लिखा है कि यूपी के पुलिस महानिदेशक के अनुसार, अमेठी के पूर्व प्रधान, सुरेन्द्र सिंह की हत्या भाजपा कार्यकर्ताओं ने की है.

VIRAL हो रहे ट्वीट को DGP ओपी सिंह ने बताया अफवाह, अमेठी पुलिस को सौंपी गई जांच
अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी के करीबी सहयोगी सुरेंद्र सिंह की हत्‍या के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

लखनऊ : अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी के करीबी सहयोगी और बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्‍या के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. 5 आरोपियों में से 4 आरोपियों को अमेठी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. लेकिन अभी-भी पुलिस के गिरफ्त से वसीम फरार चल रहा है. वहीं, इस मामले को लेकर कई लोगों के ट्वीट वायरल हो रहे हैं, जिसमें लिखा  है कि यूपी के पुलिस महानिदेशक के अनुसार, अमेठी के पूर्व प्रधान, सुरेन्द्र सिंह की हत्या भाजपा कार्यकर्ताओं ने की है. इस मामले को देखते हुए यूपी पुलिस का कहना है कि इसके जरिए अफवाह फैलाने का काम किया जा रहा है. हत्या का आरोप किसी भी पॉलीटिकल पार्टी पर नहीं लगाया गया है.  

एसएन विनोद नाम के व्यक्ति ने ट्वीट किया है, 'यूपी के पुलिस महानिदेशक के अनुसार, अमेठी के पूर्व प्रधान, सुरेन्द्र सिंह की हत्या भाजपा कार्यकर्ताओं ने की है.मालूम हो कि स्मृति ईरानी ने इन्ही की अर्थी को कंधा दिया था.'

उत्तर प्रदेश के मुखिया डीजीपी ओपी सिंह ने टि्वटर पर वायरल हो रहे ट्वीट का खंडन करते हुए कहा कि यह केवल अफवाह है. इस मामले की जांच अमेठी पुलिस को दे दी गई है. वहीं प्रदेश के डीआईजी कानून-व्यवस्था केबी सिंह ने बताया कि बरौलिया के पूर्व प्रधान सुरेन्द्र सिंह की हत्या के आरोप में गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे से  315 बोर की एक पिस्टल मिली है. साथ ही खून से सनी एक तौलिया भी बरामद की गई है, जिसे फोरेंसिक जांच के लिए भेजा जा रहा है. अभी तक की जांच में हत्या के पीछे पुरानी रंजिश सामने आ रही है. यह भी पता चला है कि एक अभियुक्त के पिता को सुरेन्द्र सिंह ने वर्ष 2013 में जेल भिजवाया था. उन्होंने कहा कि फरार एक अन्य अभियुक्त की लोकेशन दिल्ली में मिली है. उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीमें लगातार सक्रिय हैं.

सुरेंद्र सिंह की हत्या के मामले को लेकर पुलिस ने पहले ही दिन संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी थी. इसी बीच मृतक सुरेन्द्र सिंह के भाई नरेन्द्र सिंह की तहरीर पर पुलिस ने रामचन्द्र, धर्मराज गुप्ता, वसीम, नसीम व गोलू को नामजद करते हुए अन्य अज्ञात के विरुद्ध हत्या करने और हत्या की साजिश रचने का मुकदमा दर्ज कर लिया था. तीन हत्यारोपियों रामचन्द्र, धर्मराज और नसीम को पुलिस ने रविवार की रात में गिरफ्तार कर लिया.

लाइव टीवी देखें

वहीं, एक अन्य अतुल उर्फ गोलू को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया. एसपी राजेश कुमार ने बताया कि  फरार हत्यारोपियों वसीम की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की चार टीमें लगी हुई हैं. उन्होंने बताया कि प्रधानी चुनाव की रंजिश के चलते मृतक और गिरफ्तार आरोपियों के बीच मुकदमा भी चल रहा है.