UP: डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बोले- CAA विरोध के पीछे है PFI का हाथ, किराये पर लाए जा रहे लोग

हिंसक प्रदर्शनों के पीछे साफ तौर पर पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया का ही हाथ है.

UP: डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य बोले- CAA विरोध के पीछे है PFI का हाथ, किराये पर लाए जा रहे लोग
PFI को लेकर बोले डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य

लखनऊ: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शनों को लेकर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि हिंसक प्रदर्शनों के पीछे साफ तौर पर पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया का ही हाथ है.

पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया ने करवाई हिंसा
डिप्टी सीएम ने कहा कि पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया आतंकी संगठन सिमी का ही बदला हुआ रुप है. सिमी पर प्रतिबंध लगाये जाने के बाद पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया के नाम से यह संगठन देश विरोधी गतिविधियां संचालित कर रहा है. उन्होंने कहा ‘ईडी की रिपोर्ट के बाद यह साफ़ हो गया है कि पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया ने ही हिंसा कराई है. पीएफआई आर्थिक मदद के ज़रिये खतरनाक खेल खेल रही है.’

पीएफआई पर बैन लगाए केंद्र सरकार
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने एक बार फिर पीएफआई पर बैन लगाने की मांग दोहराई. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि ईडी की रिपोर्ट के बाद पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया पर यूपी सरकार की प्रतिबंध लगाने की सिफारिश को जल्द केन्द्र सरकार मंजूर करेगी.

PFI की अर्जी का विरोध करेगी सरकार- मौर्य
वहीं पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया की ओर से सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट में दाखिल अर्जी को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा कि अदालत जाना हर व्यक्ति का संवैधानिक अधिकार है. लेकिन यूपी सरकार इस संगठन की ओर से दाखिल याचिका पर हाईकोर्ट में पुरजोर ढंग से अपना पक्ष रखेगी.

पैसे देकर कराया जा रहा प्रदर्शन
नागरिकता संशोधन कानून को लेकर दिल्ली समेत यूपी के कई शहरों में हो रहे विरोध प्रदर्शनों को लेकर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रदर्शन आम नागरिक नहीं, बल्कि किराए पर लाए जा रहे लोग कर रहे हैं. डिप्टी सीएम ने इसे अराजकता फैलाने की सुनियोजित साजिश करार दिया है. उन्होंने कहा कि सीएए की खिलाफत को देश विरोधी ताकतें हवा दे रही हैं.

डिप्टी सीएम का विपक्ष पर आरोप
इसी के साथ उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने विपक्ष दलों पर लोगों को भड़काने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस जैसे राजनीतिक दल मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण के लिए लोगों को भड़का रहे हैं.