DJ के शोर के बीच फॉर्म हाउस में चल रही थी रेव पार्टी, अचानक पहुंची पुलिस और फिर...

एसएसपी ने बताया कि सूचना के आधार पर एक विशेष टीम बनाकर वहां पर छापेमारी की गई. उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान फार्म हाउस में रेव पार्टी कर रहे 161 लड़के और 31 लड़कियां पकड़ी गई है. 

DJ के शोर के बीच फॉर्म हाउस में चल रही थी रेव पार्टी, अचानक पहुंची पुलिस और फिर...
प्रतीकात्मक तस्वीर

नोएडा: नोएडा पुलिस ने यमुना नदी के किनारे स्थित एक फार्म हाउस में चल रही रेव पार्टी पर सोमवार तड़के छापे मारा और 161 युवकों व 31 युवतियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने मौके से भारी मात्रा में बीयर, मादक द्रव्य, हुक्का और आपत्तिजनक वस्तु बरामद की है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक गौतमबुद्ध नगर वैभव कृष्ण ने बताया कि रविवार रात सूचना मिली थी की सेक्टर 129 के पास यमुना किनारे स्थित एक फार्म हाउस में बड़ी संख्या में युवक युवतियां रेव पार्टी कर रहे हैं.

एसएसपी ने बताया कि सूचना के आधार पर एक विशेष टीम बनाकर वहां पर छापेमारी की गई. उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान फार्म हाउस में रेव पार्टी कर रहे 161 लड़के और 31 लड़कियां पकड़ी गई है. उन्होंने बताया कि ये लोग राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के रहने वाले हैं. गिरफ्तार युवक युवतियों में कुछ कॉलेजों में पढ़ाई करते हैं, कुछ व्यापारी हैं, तथा कुछ अधिकारियों और नेताओं के बेटे हैं.

फॉर्म हाउस में 40-50 बार हो चुकी है रेव पार्टी
एसएसपी ने बताया कि इस गिरफ्तारी के बाद यह बात जाहिर हो गई है कि यमुना किनारे बने फार्म कई हाउसों में अवैध रूप से रात को रेव पार्टियां की जा रही हैं. उन्होंने बताया कि अब आगे से इन फार्म हाउसों में लगातार चेकिंग की जाएगी. पुलिस ने मौके से फार्म हाउस के मालिक अमित त्यागी समेत पांच आयोजकों को भी गिरफ्तार किया है..पुलिस ने इनके पास से 31 हुक्के, 112 बीयर की बोतल, 80 शराब की बोतलें और भारी मात्रा में हुक्के का तम्बाकू बरामद किया है, इसके अलावा पुलिस में 40 गाड़ियों को भी कब्जे में लिया है जिनमें काफी मात्रा में शराब भरी हुई थी.

पकड़े गए लोगों में कई स्कूल और कॉलेज जाने वाले बच्चे हैं. वहीं, कुछ लोग कंपनियों में काम करने वाले हैं. छापेमारी के दौरान कुछ नाबालिग भी पुलिस को मिले हैं. पुलिस अधिकारियों की मानें तो इस फार्म हाउस में इससे पहले भी इस तरह की पार्टियां चला करती थी, जिसमें स्थानीय थाना पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध है. जिसके लिए एसपी सिटी नोएडा को मामले की जांच दी गई है.