चुनाव आयोग ने नहीं किया UP By-Election की तारीखों का ऐलान, अब 29 सितंबर को फैसला

निर्वाचन आयोग ने सिर्फ बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखें ही घोषित की. अब 29 सितंबर को इलेक्श कमिशन की मीटिंग में राज्यों में होने वाले उपचुनाव की तारीखों का फैसला होगा. 

चुनाव आयोग ने नहीं किया UP By-Election की तारीखों का ऐलान, अब 29 सितंबर को फैसला
मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा.

लखनऊ: कोरोना महामारी के बीच इलेक्शन कमिशन ने बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों की घोषणा कर दी है. उम्मीद थी कि बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही विभिन्न राज्यों में होने वाले उपचुनाव के लिए भी घोषणा होगी. इनमें उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर भी उपचुनाव होना है. लेकिन निर्वाचन आयोग ने सिर्फ बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखें ही घोषित की. अब 29 सितंबर को इलेक्श कमिशन की मीटिंग में राज्यों में होने वाले उपचुनाव की तारीखों का फैसला होगा. 

निवेश के लिए योगी सरकार का एक और बड़ा कदम, सफल रहा तो मिलेगा 1.5 लाख को रोजगार

उपचुनाव वाली 8 सीटों में 5 निर्वाचित विधायकों के निधन की वजह से खाली हुईं हैं. ये सीटें हैं घाटमपुर (कानपुर), मल्हनी (जौनपुर), बुलंदशहर सदर, देवरिया सदर, नौगावां सादात (अमरोहा). इन सीटों पर क्रमश: कमला रानी वरुण (भाजपा), पारसनाथ यादव (सपा), वीरेंद्र सिरोही (भाजपा), जन्मेजय सिंह (भाजपा) और चेतन चौहान (भाजपा) विधायक थे, जिनका निधन हो चुका है.

वायरल हुई मुगलसराय पुलिस की वसूली लिस्ट, IPS अमिताभ ठाकुर ने की कार्रवाई की मांग

वहीं, रामपुर की स्वार सीट, फिरोजाबाद की टूंडला सीट और उन्नाव की बांगरमऊ सीटों पर भी उपचुनाव होने हैं. बांगरमऊ विधानसभा सीट से 2017 में चुनाव जीते कुलदीप सिंह सेंगर के सजायाफ्ता होने के कारण उनकी सदस्यता चली गई.  एसपी सिंह बघेल के सांसद बनने के बाद टूंडला विधानसभा सीट खाली हुई है. जबकि गलत दस्तावेज लगाने पर आजम खां के बेटे अब्दुल्ला आजम खां की विधानसभा सदस्यता रद्द होने से रामपुर की स्वार सीट खाली हुई ​है.

WATCH LIVE TV