कहानी फिल्मी नहीं असली है: नागिन की मौत के बाद थाने पहुंचा कोबरा, दारोगा के सामने फन फैलाकर बैठा
X

कहानी फिल्मी नहीं असली है: नागिन की मौत के बाद थाने पहुंचा कोबरा, दारोगा के सामने फन फैलाकर बैठा

मामला आजमगढ़ के मेंहनगर थाने का है. यहां एक नागिन की मौत के बाद कोबरा अपनी फरियाद लेकर पहुंचा. पूरा मामला जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर....

कहानी फिल्मी नहीं असली है: नागिन की मौत के बाद थाने पहुंचा कोबरा, दारोगा के सामने फन फैलाकर बैठा

आजमगढ़: बचपन से ही हम सब नाग-नागिन की कहानियां सुनते आ रहे हैं. आपने अक्सर लोगों को ये कहते भी सुना होगा कि अगर किसी व्यक्ति ने नाग को मार दिया तो नागिन उसका बदला जरूर लेती है. वह मारने वाले को मारकर अपना इंतकाम पूरा करती है. अगर नागिन मर जाए तो नाग बिछड़ने के गम में खुद ही तड़प-तड़प कर अपनी जान दे देता है. इन किस्से-कहानियों के आधार पर ही ना जानें कितनी फिल्में और डेली सोप बन चुके. यूपी के आजमगढ़ में ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आपको यकीन नहीं होगा. लेकिन जो हुआ वह कोई कहानी नहीं बल्कि हकीकत है. दरअसल, यहां एक नागिन की मौत के बाद नाग थाने पहुंचकर थानेदार से इंसाफ मांगता नजर आया! 

क्या है पूरा मामला?
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला आजमगढ़ के मेंहनगर थाने का है. जानकारी के मुताबिक, कुछ दिन पहले थाने में फरियादियों की भीड़ लगी थी. यहां सभी अपनी-अपनी शिकायत लेकर आए थे. थाने से कुछ दूरी पर एक नाग-नागिन का एक जोड़ा बैठा था. बताया जा रहा है कि जब फरियादी थाने से वापस लौटने लगे तभी एक शिकायतकर्ता की कार नागिन पर चढ़ गई. जिससे उनकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई. इसके बाद कोबरा ने काफी दूर तक उस कार का पीछा किया. वहीं, दूसरी तरफ सड़क पर सांप को मरा देखकर लोगों ने उसे थाने के पास ही दफना दिया. लोगों को लगा कि अब नाग यहां वापस नहीं आएगा, लेकिन कुछ दिन बाद कोबरा उसी जगह पर पहुंच गया, जहां नागिन को दफनाया गया था. 

ये भी पढ़ें- CM योगी के गृह जनपद में मॉडल रोड पर जल्द फर्राटा भरेंगे वाहन, 408 करोड़ रुपये से हो रहा निर्माण

थानेदार के पास फरियाद लेकर पहुंचा नाग 
कोबरा को देखकर इलाके में हड़कंप मच गया. वहीं,  कुछ देर बाद कोबरा उसी थाने पर पहुंच गया, जहां लोग अपनी शिकायत लेकर पहुंचे थे. थाने में खतरनाक कोबरा को देखकर पुलिसवालों के हाथ-पांव फूल गए. कुछ पुलिसकर्मियों ने उसे मारने की कोशिश की, लेकिन दारोगा ने ऐसा करने से रोक दिया. इसके बाद कोबरा थानेदार के ऑफिस के सामने रास्ते पर फन फैलाकर बैठ गया. कोबरा को ऐसे बैठे हुए देखकर लोगों ने अंदेशा लगाया कि मानो वह थानेदार के पास अपने जोड़े की मौत की शिकायत करने आया हो. हालांकि, बाद में थानेदार ने किसी तरह कोबरा को डस्टबिन में भर कर दूर जंगल में छुड़वा दिया. नाद-नागिन से जुड़ा ये मामला पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है. 

ये भी पढ़ें- आने वाली है PM Kisan की 10वीं किस्त, रजिस्ट्रेशन के समय कहीं आपसे भी तो नहीं हुई ये गलती, ऐसे करें ठीक

WATCH LIVE TV

Trending news