Lucknow Alaya Apartment: सैकड़ों टन मलबे में दबे लोगों की जान बचाने में मोबाइल बना मददगार, फोन पर बात कर Rescue कर रहे बचावकर्मी
topStories0hindi1543387

Lucknow Alaya Apartment: सैकड़ों टन मलबे में दबे लोगों की जान बचाने में मोबाइल बना मददगार, फोन पर बात कर Rescue कर रहे बचावकर्मी

UP News: लखनऊ में मंगलवार शाम हादसे में वजीर हसन रोड स्थित पांच मंजिला इमारत अलाया ताश के पत्तों की तरह भर-भराकर गिर गई. रेस्क्यू ऑपरेशन में मोबाइल मददगार साबित हो रहा है.

Lucknow Alaya Apartment: सैकड़ों टन मलबे में दबे लोगों की जान बचाने में मोबाइल बना मददगार, फोन पर बात कर Rescue कर रहे बचावकर्मी

Lucknow Building Collapse: लखनऊ में मंगलवार शाम हादसे में वजीर हसन रोड स्थित पांच मंजिला इमारत अलाया, ताश के पत्तों की तरह भर-भराकर गिर गई. इस दौरान मलबे में लगभग तीस से ज्यादा लोग दब गए. हादसे के बाद कल शाम तकरिबन 6:30 बजे से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हुआ. बता दें कि पुलिस, दमकलकर्मी, एसडीआरएफ और सेना ने रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे हैं. फिलहाल, दर्जनों लोगों को मलबे से बाहर निकाला जा चुका है, जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है. इस हादसे के दौरान सैकड़ों टन मलबे में दबी बेटी ने कॉल किया, जिससे बचावकर्मी लगातार फोन पर बात करते रहे. आइए बताते हैं हादसे से जुड़ी फोन कॉल से रेस्क्यू की कहानी.

आपको बता दें कि हादसे के दौरान मलबे के अंदर फंसी शाहजहां की बेटियों से बातचीत की गई. इसके साथ ही उन्नति श्रीवास्तव और हैदर परिवार के परिजनों से बात की गई. रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर ने बताया कि मलबे में दबी हिना ने अपने परिजनों को कॉल किया गया है. उन्होंने बताया कि मलबे में दबे लोग एक-एक पल जिंदगी की जंग लड़ रहे हैं. सभी को सुरक्षित निकालने के लिए जवान युद्ध स्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन के काम में लगे हुए हैं.

हादसे के बाद हिना ने किया कॉल
इस हादसे को लेकर हिना ने बताया कि वह अंधेरे में कही फंसी है. उसका एक पैर मलबे में दब गया है. इसके बाद फोन कॉल के माध्यम से जानकारी मिलने पर उसका भी रेस्क्यू शुरू हुआ. इसके बाद मलबे में फंसे लोगों द्वारा बताई गई लोकेशन का अंदाजा लगाकर उस मलबे को तेजी से कटर से काटा जा रहा है. इस काम के लिए मिलिंद एक्सपर्ट को बुलाया गया. अब मिलिंद रोबोट को मलबे में भेजकर अंदर की स्थित बताएंगे.  

मामले में डीजीपी डीएस चौहान ने दी जानकारी 
इस मामले में डीजीपी डीएस चौहान ने जानकारी दी. उन्होंने बताया कि इमारत के दो फ्लोर काटे जा चुके हैं. इसके अलावा मलबे में फंसे लगभग 7 लोगों से रेस्क्यू टीम मोबाइल फोन पर संपर्क में है. रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार जारी है. वहीं, अगले 8 से 10 घंटे राहत बचाव का काम जारी रहेगा. डीजीपी ने भरोसा दिया कि मलबे में दबे सभी को सकुशल बाहर निकाला लिया जाएगा. उन्होंने बताया कि फंसे लोगों को ऑक्सीजन की कमी न हो, इसको पूरा करने के लिए ड्रिल किया जा रहा है. वहीं, सीएम योगी भी मामले में पल पल की अपडेट ले रहे हैं. 

हजरतगंज थाने में दर्ज कराए 
आपको बता दें कि अलाया अपार्टमेंट को लेकर यजदान बिल्डर के मालिकों पर मुकदमा दर्ज होगा. इस मामले में मंडलायुक्त रोशन जैकब ने एलडीए को निर्देश दिए हैं. मंडला आयुक्त ने निर्देश दिया है कि इस मामले में भवन मालिक मोहम्मद तारीक, नवाज़िश शाहिद, अपार्टमेंट के बनाए बिल्डर्स यजदान पर तत्काल हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया जाए. इसके अलावा मंडला आयुक्त ने एलडीए के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वह लखनऊ में यजदान बिल्डर की बिल्डिंग की जांच करें. अगर बिल्डिंग अवैध हुई तो उसको तत्काल तोड़ा दिया जाए.

Trending news