UP Chunav 2022: जातीय आंकड़ों से सियासी समीकरण साधने में जुटी सपा, इन विधानसभा सीटों का मांगा जातीय आंकड़ा
X

UP Chunav 2022: जातीय आंकड़ों से सियासी समीकरण साधने में जुटी सपा, इन विधानसभा सीटों का मांगा जातीय आंकड़ा

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) के लिए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. जातीय आंकड़ों के जरिये सपा सियासी समीकरण साधने में जुटी है. 

UP Chunav 2022: जातीय आंकड़ों से सियासी समीकरण साधने में जुटी सपा, इन विधानसभा सीटों का मांगा जातीय आंकड़ा

लखनऊ: यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election 2022) के लिए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. जातीय आंकड़ों के जरिये सपा सियासी समीकरण साधने में जुटी है. 

प्रत्याशी के चयन में जातीय समीकरण को ध्यान में रखेगी सपा
यूपी विधानसभा चुनाव में इस बार सपा अपने प्रत्याशी का चयन करते समय क्षेत्र के जातीय समीकरण को केंद्र बिंदु में रखेगी. जिसकी शुरुआत लखनऊ से होने जा रही है. अखिलेश यादव  (Akhilesh Yadav) ने लखनऊ की सभी नौ विधानसभा सीटों का जातीय आंकड़ा मांगा है. इसकी शुरुआत करते हुए ग्रामीण क्षेत्र की चार और शहर की पांच विधानसभा सीटों के जातीय आंकड़ों का अध्ययन किया जा रहा है.

लखनऊ की सभी विधानसभा सीटों का मांगा गया जातीय आंकड़ा 
पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ की सभी नौ विधानसभा सीटों का जातीय आंकड़ा नगर और जिला इकाई से मांगा है. पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव इंद्रजीत सरोजदो दिसंबर को मलिहाबाद, सरोजनीनगर, बख्शी का तालाब और मोहनलालगंज विधानसभा सीटों की समीक्षा करेंगे. इसके अलावा सपा सभी विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशियों के लिए फीडबैक भी ले रही है. जिसके बाद अब जातीय आंकड़े भी जुटाए जा रहे हैं. जानकारी के मुताबकि इस डेटा को इक्ट्ठा कर हाईकमान को भेजा जाएगा. 

WATCH LIVE TV

Trending news