तांडव वेब सीरीज निर्माताओं के खिलाफ लगना चाहिए रासुका: साध्वी प्राची

  अली अब्बास जफर के निर्देशन में बनी तांडव वेब सीरीज का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है.  हरिद्वार के संतों के विरोध के बाद अब  विश्व हिंदू परिषद की फायर ब्रांड नेत्री साध्वी प्राची ने बड़ा बयान दिया है.

तांडव वेब सीरीज निर्माताओं के खिलाफ लगना चाहिए रासुका: साध्वी प्राची
साध्वी प्राची

हरिद्वार:  अली अब्बास जफर के निर्देशन में बनी तांडव वेब सीरीज का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है.  हरिद्वार के संतों के विरोध के बाद अब  विश्व हिंदू परिषद की फायर ब्रांड नेत्री साध्वी प्राची ने बड़ा बयान दिया है. हरिद्वार पहुंची साध्वी प्राची ने हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाने वाली वेब सीरीज बनाने वालों को कड़ी से कड़ी सजा की मांग की हैं.साथ ही उन्होंने कहा कि इनकी मर्दानगी का पता तब चलेगा जब यह अल्लाह और अली पर फिल्म या वेब सीरीज बनाकर दिखाएं.

क्या बोली साध्वी?
विश्व हिंदू परिषद की तेज तर्रार नेत्री साध्वी प्राची ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि "भारत मे हिन्दू बहुसंख्यक है, फिर भी हिन्दू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाना आज एक फैशन सा हो गया है. वेब सीरीज बनाने वालों में अगर हिम्मत है तो गैर हिंदूओ पर भी फिल्म बना कर दिखाए". 

उन्होंने सरकार से मांग की "ऐसी विवादित फिल्म बनाने वालों के खिलाफ रासुका लगनी चाहिए. उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए. पहले फिल्मों के माध्यम से और अब इन वेब सीरीज के माध्यमों से हिंदुओं की धर्म संस्कृति का मजाक बनाना आम बात हो गई है. जिसके लिए कड़ा से कड़ा कानून बनाना चाहिए .जिससे इन निर्माताओं द्वारा इस तरह की गलती दोबारा करने से पहले सौ बार सोचे. अगर हिम्मत है इन निर्माताओं की तो गैरहिंदू धर्म के ऊपर इस तरह की टिप्पणी करके दिखाएं"

इन दृश्यों से मचा बवाल 
इस वेब सीरीज के पहले ही एपिसोड में एक्टर जीशान अयूब भगवान शिव के कैरेक्टर में दिखते हैं. यह यूनिवर्सिटी के थिएटर का एक सीन है, जिसमें मंच संचालक उनसे पूछता है कि भोलेनाथ कुछ करिए. रामजी के फॉलोअर्स तो लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते ही जा रहे हैं. इस पर जीशान अयूब कहते हैं, क्या करूं अपनी प्रोफाइल पिक चेंज कर दूं. इस पर मंच संचालक कहता है कि इससे कुछ नहीं होगा. आप कुछ अलग करिए. 

वेब सीरीज के एक और हिस्से पर लोग आपत्ति जता रहे हैं. इस सीन में कॉलेज का एक युवा लड़की से कहता है, 'जब एक छोटी जाति का आदमी एक ऊंची जाति की औरत को डेट करता है न तो वह बदला ले रहा होता है, सिर्फ उस एक औरत से.' इस सीन पर आपत्ति जताते हुए कुछ यूजर्स ने इसे हिंदू और दलित विरोधी प्रॉपेगेंडा करार दिया है. 

ये भी पढ़ें:

विधान परिषद में लगी सावरकर की तस्वीर से कांग्रेस को ऐतराज, बताया स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान

खुद के घर का सपना होगा पूरा! PM आवास योजना के लिए घर बैठे करें आवेदन, लिस्ट में ऐसे चेक करें नाम