close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हलाला और तीन तलाक को मानने वाले सबसे बड़े गुनहगार : इंद्रेश कुमार

इंद्रेश कुमार की माने तो हलाला और तीन तलाक को मानने वाले सबसे बडे गुनहगार हैं. विश्व के तमाम देशों में हलाला और तीन तलाक पर रोक है फिर हम इसे क्यों ढो रहे हैं. जिस हलाला और तीन तलाक से महिलाओं का उत्पीड़न होता है उसे कहीं से भी उचित नही ठहराया जा सकता. 

हलाला और तीन तलाक को मानने वाले सबसे बड़े गुनहगार : इंद्रेश कुमार
राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (RSS) के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के संयोजक इंद्रेश कुमार

देहरादून: राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (RSS) के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के संयोजक इंद्रेश कुमार (Indresh kumar) ने कहा है कि हलाला और तीन तलाक को मानने वाले सबसे बड़े गुनहगार हैं. जिससे किसी को नुकसान होता हो उसके मानने वाले खुदा के बंदे कैसे हो सकते हैं. राष्ट्रीय मुस्लिम मंच अगले माह पूरे देश में कई कार्यक्रम करने जा रहा है. ये कार्यक्रम खासतौर पर मदरसों में आयोजित किए जाएंगे. इसके साथ ही राष्ट्रीय मंच मुस्लिम महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर भी कार्यक्रम करेगा, जिसमें महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जाएगा. 

'मादरे वतन और वंदे मातरम एक है'
अपने तीन दिन के उत्तराखण्ड प्रवास पर पहुंचे मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संयोजक इंद्रेश कुमार ने कहा जब मादरे वतन का मतलब वंदे मातरम है तो वंदे मातरम कहने में क्या हर्ज है. इंद्रेश कुमार के मुताबिक कट्टरता शैतान की निशानी है. लिहाजा कट्टरता से दूर रहना ही बेहतर होगा. हम कट्टरता के रास्ते पर चलकर तरक्की नहीं कर सकते. इसके लिए आपसी सद्भाव रखना होगा ताकि पूरे समाज का विकास हो. 

लाइव टीवी देखें-:

'एक साथ कई कार्यक्रम का होगा आयोजन'
मुस्लिम राष्ट्रीय मंच 12 अगस्त से लेकर 15 अगस्त तक देश के तमाम मदरसों में तिरंगा लहराने का कार्यक्रम आयोजित करेगा. इसके साथ ही वतन के लिए शहीद होने वाले शहीदों को श्रद्धांजली देने के साथ ही छात्रों को उनके बारे में जानकारी भी दी जाएगी, ताकि छात्रों को ये पता लग पाए कि इस देश के लिए जहां भगत सिंह ने शहादत दी तो अशफाक उल्लाह खां भी वतन पर मर मिटे थे. 

महिलाओं के लिए खास जागरूकता कार्यक्रम 
इंद्रेश कुमार की माने तो हलाला और तीन तलाक को मानने वाले सबसे बडे गुनहगार हैं. विश्व के तमाम देशों में हलाला और तीन तलाक पर रोक है फिर हम इसे क्यों ढो रहे हैं. जिस हलाला और तीन तलाक से महिलाओं का उत्पीड़न होता है उसे कहीं से भी उचित नही ठहराया जा सकता. मुस्लिम राष्ट्रीय मंच अगस्त माह में मुस्लिम महिलाओं को जागरूक करने के लिए कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करेगा ताकि वे सशक्त बन सकें.