'बीजेपी के शासन में सुरक्षित नहीं महिलाएं, वे डरते हुए घर से निकलती हैं बाहर': अखिलेश यादव

सपा नेता अखिलेश यादव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी शासन में लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं.

'बीजेपी के शासन में सुरक्षित नहीं महिलाएं, वे डरते हुए घर से निकलती हैं बाहर': अखिलेश यादव
सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने महिला सुरक्षा में कमी के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है.

नई दिल्ली: हैदराबाद में वेटनरी की डॉक्टर के साथ गैंगरेप और नृशंस तरीके से उसकी हत्या मामले का पूरा देश विरोध कर रहा है. पीड़िता के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए संसद से सड़क तक सरकार से मांग हो रही है. लोकसभा और राज्यसभा में सांसदों ने एक मत होकर इस घटना की निंदा की और आगे ऐसा ना हो इसके लिए कदम उठाने की बातें हुईं. इस बीच सपा नेता अखिलेश यादव ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी शासन में लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं. सपा सांसद अखिलेश यादव ने कहा, 'बीजेपी के शासन में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं. वे डरते हुए घर से बाहर निकलती हैं. चाहे वे काम पर जाती हों या किसी समारोह में शामिल होने के लिए निकलती हैं, लेकिन उनके मन में भय बना रहता है. यह किसी भी सभ्य समाज के लिए निंदनीय है.'

रेपिस्टों की लींचिंग करने की मांग
इससे पहले राज्यसभा में समाजवादी पार्टी (सपा) की सांसद जया बच्चन ने भी तेलंगाना की इस घटना पर रोष व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि यह सिर्फ शर्म की बात नहीं है, यह बहुत ही भयावह है. जया ने कहा कि यद्यपि यह अति होगी, लेकिन महिलाओं के खिलाफ ऐसे अपराधों को हमेशा के लिए खत्म करने के लिए लिंचिंग एक मात्र उपाय होगा.

अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी दोषियों को कठोर दंड देने का आह्वान किया. राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि इस तरह के जघन्य अपराधों से निपटने के लिए अतीत में कई कानून बनाए गए हैं, लेकिन क्रूरता के ऐसे कार्यों के खिलाफ समाज के लोगों के लिए उठ खड़े होने का समय है.

तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती ने भी जया बच्चन की सलाह का समर्थन किया है. मिमी ने कहा कहा, 'मेरा सभी संबंधित मंत्रियों से अनुरोध है कि वे इतना कठोर कानून बनाएं कि कोई व्यक्ति बलात्कार करने से पहले 100 बार सोचें. इतना ही नहीं, वह किसी महिला को गलत इरादे से देखने की भी हिम्मत ना करे.'

टीएमसी सांसद से पूछा गया कि जया बच्चन ने रेप के दोषियों को भीड़ के हवाले करने की सलाह पर वह क्या कहेंगी. इसपर मिमी ने कहा, 'मैं उनकी सलाह से सहमत हूं. मुझे नहीं लगता कि हमें बलात्कारियों को अदालतों में ले जाने और फिर न्याय का इंतजार करने की आवश्यकता है. तत्काल सजा की जरूरत है.'

ये भी देखें-: