दूसरे प्रदेशों में फंसे यूपी के लोगों को लेकर योगी सरकार ने लिया अब तक का सबसे बड़ा फैसला

अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने टेस्टिंग बढ़ाने का भी निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों की टेस्टिंग करने की विशेष आवश्यकता है ताकि संक्रमण न फैले और जल्द ही इस पर नियंत्रण पाया जा सके. उन्होंने कहा कि चाहे वो किसी भी कोने में हो उसे योगी सरकार घर तक लाएगी

दूसरे प्रदेशों में फंसे यूपी के लोगों को लेकर योगी सरकार ने लिया अब तक का सबसे बड़ा फैसला
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

लखनऊ: देश के किसी भी कोने से उत्तर प्रदेश के नागरिकों को नि:शुल्क लाने की व्यवस्था करने के लिए योगी सरकार ने आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा कि चाहे वो किसी भी कोने में हो उसे योगी सरकार घर तक लाएगी. साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने ईद के त्योहार को देखते हुए लोगों से अपील की है कि वो घर पर ही ईद की नमाज़ अदा कर त्योहार मनाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. 

यह जानकारी शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी और प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने दी. अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि मुख्यमंत्री ने टेस्टिंग बढ़ाने का भी निर्देश दिया है. उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों की टेस्टिंग करने की विशेष आवश्यकता है ताकि संक्रमण न फैले और जल्द ही इस पर नियंत्रण पाया जा सके.

CM योगी की लखनऊ को स्टार्टअप हब बनाने की कवायद, कहा- ‘जॉब सीकर नहीं’, ‘जॉब प्रोवाइडर’ बनेंगे युवा

गंगा एक्सप्रेस वे का एस्टीमेट रेडी
मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि बड़े प्रोजेक्ट को तेज़ी से शुरू किया जाए. उन्होंने बताया कि गंगा एक्सप्रेस वे का 20 हज़ार 924 करोड़ रुपए का एस्टीमेट आ गया है. मेरठ से शुरू होकर है ये एक्सप्रेस वे प्रयाराज तक जाएगा. लॉकडाउन के बावजूद भी यूपीडा ने कार्य करते हुए एस्टीमेट तैयार कर लिया है. लैंड का प्रोजेक्ट लगभग 9 हज़ार करोड़ का होगा. इस 30 हज़ार के प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने का निर्देश मुख्यमंत्री ने दिया है.
सीएम योगी को विभिन्न एक्सप्रेस वे के कार्यों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में अब 5 हज़ार 535 कुशल श्रमिक कार्य के रहे हैं. 1144 इंजीनियर्स भी इसमें कार्य कर रहे हैं. साथ ही 3127 बड़ी मशीनें इस प्रोजेक्ट में लगी हुई हैं. बरसात से पहले मुख्यमंत्री ने इसके कार्यों को करने के निर्देश दिए हैं.

21 लाख प्रदेशवासियों की हो चुकी है घर वापसी
अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि अब तक 1018 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें उत्तर प्रदेश में आ चुकी हैं. इन ट्रेनों में 13 लाख 54 हज़ार से अधिक लोग वापस प्रदेश आ चुके हैं. कुल मिलाकर 21 लाख लोग और श्रमिक विभिन्न माध्यमों और प्रदेशों से यूपी में आ चुके हैं. उन्होंने बताया कि प्रदेश में 178 ट्रेनें और आने वाली हैं.

लखनऊ में सख्त शर्तों के साथ 26 मई से खुल सकेंगे शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, मॉल्स रहेंगे बंद

गोरखपुर में टेस्टिंग लैब शुरू
अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि प्रवासी श्रमिकों और कामगारों को उनके कौशल के अनुसार रोज़गार उपलब्ध कराने के लिए एक वेबसाइट भी तैयार की जा रही है. अपर मुख्य सचिव, गृह ने बताया कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में आज ही एक नई टेस्टिंग लैब का कार्य शुरू हुआ है. 

25 मई से घरेलू उड़ान 
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन ने कहा कि कामगारों और श्रमिकों की थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद यदि उनमें लक्षण नहीं है, तो उनको 21 दिन के होम क्वॉरेंटाइन में भेजा जा रहा है. उन्होंने बताया कि 25 मई से डोमेस्टिक फ्लाइट चालू होने वाली हैं और इसका प्रोटोकॉल सिविल एविएशन मिनिस्ट्री द्वारा जारी हो चुका है. इस बारे में आगे उन्होंने बताया कि मुख्य रूप से उत्तर प्रदेश में रहने वाले लोगों को होम क्वारंटाइन में जाना होगा. यदि कोई 1-2 दिनों के लिए किसी आवश्यक कार्य से आ रहा है तो उनको अपने रिटर्न टिकट का हवाला देना होगा. अपनी पूरी डिटेल देनी होगी.

UP POLITICS: इस नेता की गिरफ्तारी पर बरसीं प्रियंका, कहा- कांग्रेस बापू की पार्टी, डरना फितरत में नहीं

कोविड वॉलिंटर बनेंगे
अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश सरकार एनएसएस, एनसीसी नेहरू युवा केंद्र आदि के लोगों को भी कोविड वॉलंटियर फोर्स के रूप में भी नियुक्त करने जा रही है. ये वॉलेंट्री सर्विस देंगे.