आखिर किसने दी UP के राजभवन को उड़ाने की धमकी ?

उत्तर प्रदेश के राजभवन पर खतरा मंडरा रहा है. इस बीच राज्य प्रशासन ने सतर्कता बरतनी शुरू कर दी है. गृह विभाग ने सभी विभागों को बुधवार शाम तक आवश्यक जांच करके रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.

आखिर किसने दी UP के राजभवन को उड़ाने की धमकी ?

लखनऊ: झारखंड के एक उग्रवादी संगठन ने उत्तरप्रदेश के राज्यपाल को 10 दिन के भीतर राजभवन छोड़ने की धमकी दी है. धमकी भरे पत्र में कहा गया कि यदि राज्यपाल ने 10 दिनों में राजभवन नहीं छोड़ा तो उसे डायनामाइट से उड़ा दिया जाएगा. धमकी देने वाले संगठन का नाम तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी (टीएसपीसी) बताया जा रहा है.

धमकी भरा पत्र मिलने के बाद उत्तर प्रदेश राजभवन में खलबली मच गई है. अपर मुख्य सचिव राज्यपाल हेमन्त राव ने धमकी भरे पत्र को गंभीरता से लेते हुये पत्र को गृह विभाग में इसकी जांच औरआवश्यक कार्रवाई के लिये भेजा है. गृह विभाग ने डीजीपी ओम प्रकाश सिंह, डीजी इंटेलीजेंस भावेश कुमार सिंह और एडीजी सुरक्षा दीपेश जुनेजा को पत्र भेजकर जल्द से जल्द इसकी जांच करने और बुधवार शाम तक जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं.

पत्र मिलने के बाद प्रशासन हुआ सतर्क

सरकार ने भी सक्रियता दिखाते हुए हुए झारखंड सरकार और झारखंड पुलिस से संपर्क किया है. गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि, विभाग ने पुलिस महानिदेशक (DGP), DG इंटेलिजेंस और ADG सिक्योरिटी को पत्र लिखकर कहा है कि वह इस मामले की तुरंत जांच करें और कल तक स्थिति का पूरा आकलन कर रिपोर्ट लें और आवश्यकतानुसार उपाय करें.

गौरतलब है कि तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी झारखंड का सक्रिय उग्रवादी संगठन है. मौजूदा समय में झारखंड में विधानसभा चुनाव चल रहा है और पहले चरण की वोटिंग भी हो चुकी है. ऐसे में चुनाव आयोग को भी इसे गंभीरता से लेकर उचित कार्रवाई करनी चाहिये.