राज कुंद्रा के एक और गेम का खुलासा: ऑनलाइन गैम्बलिंग से फर्जीवड़ा करने का आरोप

पॉर्न के बाद राज कुंद्रा पर गेम गैम्बलिंग का भी आरोप लगा है. बीजेपी नेता राम कदम ने कहा- धोखाधड़ी करके लोगों से लाखों रुपये ठगे.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jul 30, 2021, 07:42 PM IST
  • राज कुंद्रा पर अब गेम गैम्बलिंग का आरोप
  • धोखाधड़ी से ठगे लाखों रुपये- राम कदम
राज कुंद्रा के एक और गेम का खुलासा: ऑनलाइन गैम्बलिंग से फर्जीवड़ा करने का आरोप

नई दिल्ली: राज कुंद्रा के एक और गेम का खुलासा हुआ है. बीजेपी के नेता राम कदम ने आरोप लगाया किया है कि राज कुंद्रा ऑनलाइन गैम्बलिंग वाला गेमिंग ऐप बनाकर भी फर्जीवड़ा करते थे. राम कदम ने बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके वो सबूत और दस्तावेज दिखाये हैं जिसके आधार पर उन्होंने राज कुंद्रा पर आरोप लगाये हैं.

गेमिंग ऐप बनाकर फर्जीवड़ा करते थे शिल्पा के पति

राम कदम का दावा है कि महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश के दूर दराज इलाके के लोगों ने उनसे शिकायत की है कि राज कुंद्रा ने हज़ारों करोड़ का फर्जीवाड़ा किया है. तो राज कुंद्रा के इस नये गेम के बारे में भी आपको जानना चाहिए, सतर्क भी रहना चाहिए.

मुंबई में बीजेपी नेता राम कदम के पास पहुंचे ये लोग खुद को राज कुंद्रा के फर्जीवाड़े का शिकार बता रहे हैं. इनके हाथों में दस्तावेज हैं. धोखाधड़ी के आरोपों से जुड़े सबूत हैं और शिकायतों का पुलिंदा है, लेकिन आरोप है कि इनकी शिकायत सुनी नहीं जा रही. लिहाजा इन लोगों ने राम कदम से गुहार लगाई.

बीजेपी के नेता राम कदम ने लगाया आरोप

राम कदम के मुताबिक राज कुंद्रा ने जी ओ डी नाम का जो गेमिंग ऐप बनाया था उसे खरीदना और चलाना तो दूर, बल्कि इस गेम को खेलना भी गैम्बलिंग के दर्जे का गुनाह था. लेकिन पूरे प्लान के तहत ये फर्जीवाड़े का ये बिजनेस चल रहा था.

पता चला है कि इस बिजनेस में शिकार तलाशने के लिए पहले डिस्ट्रीब्यूटर बनाए जाते थे. डिस्ट्रीब्यूटर को 15 लाख से 30 लाख रुपये डिपॉजिट करने होते थे. डिस्ट्रीब्यूटर को मुनाफ़े के साथ कमीशन देने की बात कही जाती थी. इस खेल में जीतने वाले को इनामी राशि दी जाती थी, लेकिन खेल में इनामी राशि जीतने वाले लोग राज कुंद्रा के कंपनी के स्टाफ ही होते थे.

पैसे वापस लेने वालों के साथ मारपीट और धमकी

अब खुलासा हुआ है कि डिस्ट्रीब्यूटर बने लोगों को न तो कोई मुनाफा मिला ना ही कमीशन ऊपर से डिपॉजिट मनी वापस लेने वालों को भी मारपीट और धमकी का सामना करना पड़ता था.

लोगों की शिकायत ये है कि पुलिस में शिकायत के बाद भी ना तो विहान इन्ट्रस्ट्रीज से जुडे लोगों पर कोई कार्रवाई हुई और ना ही राज कुंद्रा पर आरोप ये भी है कि पीड़ितों के साथ दोहरा धोखा किया गया. पहले तो उन्हें डिस्ट्रीब्यूटर एग्रीमऐन्ट की ऑरिजिनल कॉपी नहीं दी गई और जो कॉपी दी गई उसमें भी कई फेर बदल कर दिये गए.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़