भारत के गांवों की तस्वीर बदलने वाले नानाजी देशमुख को भारत रत्न

नानाजी देशमुख का जन्म महाराष्ट्र के परभणी जिले में 11 अक्टूबर 1916 को हुआ. आरएसएस के संस्थापक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार से नानाजी के पारिवारिक सम्बन्ध थे. साल 1940 में हेडगेवार के निधन के बाद आरएसएस को खड़ा करने की ज़िम्मेदारी नानाजी पर आ गई और इस संघर्ष को अपने जीवन का मूल उद्देश्य बनाते हुए नानाजी ने अपना पूरा जीवन आरएसएस के नाम कर दिया.

नानाजी देशमुख का जन्म महाराष्ट्र के परभणी जिले में 11 अक्टूबर 1916 को हुआ. आरएसएस के संस्थापक डॉ. केशव बलिराम हेडगेवार से नानाजी के पारिवारिक सम्बन्ध थे. साल 1940 में हेडगेवार के निधन के बाद आरएसएस को खड़ा करने की ज़िम्मेदारी नानाजी पर आ गई और इस संघर्ष को अपने जीवन का मूल उद्देश्य बनाते हुए नानाजी ने अपना पूरा जीवन आरएसएस के नाम कर दिया.

ट्रेंडिंग विडोज़