ब्रिटेनः पीएम बनने के बाद ऋषि सुनक की लोकप्रियता में इजाफा, लोगों में बढ़ा भरोसा

ब्रिटेन के पहले भारतीय मूल के प्रधानमंत्री के रूप में पदभार ग्रहण करने के एक महीने बाद ऋषि सुनक की लोकप्रियता ब्रिटेन के मतदाताओं के बीच बढ़ी है. हाल ही में कराए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार अपनी सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव पार्टी की अपेक्षा मतदाताओं के बीच सुनक की लोकप्रियता ज्यादा बढ़ी है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Nov 25, 2022, 07:15 PM IST
  • महंगाई काबू करने के प्रयासों से भरोसा कायम होने का संकेत
  • कंजर्वेटिव पार्टी को पसंद करने वालों की संख्या में आई कमी

ट्रेंडिंग तस्वीरें

ब्रिटेनः पीएम बनने के बाद ऋषि सुनक की लोकप्रियता में इजाफा, लोगों में बढ़ा भरोसा

नई दिल्लीः ब्रिटेन के पहले भारतीय मूल के प्रधानमंत्री के रूप में पदभार ग्रहण करने के एक महीने बाद ऋषि सुनक की लोकप्रियता ब्रिटेन के मतदाताओं के बीच बढ़ी है. हाल ही में कराए गए एक सर्वेक्षण के अनुसार अपनी सत्तारूढ़ कंजर्वेटिव पार्टी की अपेक्षा मतदाताओं के बीच सुनक की लोकप्रियता ज्यादा बढ़ी है. 

इसी महीने की शुरुआत में किया गया सर्वे
ऋषि सुनक (42) ने ऐसे समय कार्यभार संभाला है, जब कोविड महामारी और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण जीवन लागत बढ़ गई है, जबकि अर्थव्यवस्था पर भी व्यापक प्रतिकूल प्रभाव पड़ा. 'इप्सोस पॉलिटिकल मॉनिटर' के नवंबर अंक में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार यह सर्वेक्षण इसी महीने की शुरुआत में किया गया. 

महंगाई काबू करने के प्रयासों से भरोसा कायम होने का संकेत
सर्वेक्षण के अनुसार, प्रधानमंत्री बनने के बाद सुनक की लोकप्रियता बढ़ गई और उन्होंने विपक्षी लेबर पार्टी के नेता कीर स्टारर को पीछे छोड़ दिया. रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा प्रतीत होता है कि महंगाई पर काबू के लिए युद्धस्तर पर काम करने के उनके संदेश से लोगों में उनके नेतृत्व के प्रति भरोसा कायम हुआ है. 

कंजर्वेटिव पार्टी को पसंद करने वालों की संख्या में आई कमी
जनमत सर्वे में हालांकि यह भी पाया गया कि कंजर्वेटिव पार्टी को पसंद करने वाले लोगों की संख्या में खासी कमी आई है वहीं लेबर पार्टी को पसंद करने वालों का अनुपात थोड़ा बढ़ गया है. 

बोरिस जॉनसन से ज्यादा है सुनक की लोकप्रियता
रिपोर्ट के अनुसार, सर्वेक्षण में शामिल करीब आधे (47 प्रतिशत) प्रतिभागियों का कहना है कि वे ऋषि सुनक को पसंद करते हैं, जबकि पांच में से दो (41 प्रतिशत) लोगों ने कहा कि वे सुनक को पसंद नहीं करते हैं. इसका अर्थ है कि इस साल की शुरुआत में बोरिस जॉनसन की जो लोकप्रियता थी, सुनक उससे आगे हैं. 

2007 के बाद से कंजर्वेटिव पार्टी की न्यूनतम रेटिंग
सर्वेक्षण के अनुसार, चार में से केवल एक (26 प्रतिशत) प्रतिभागी का ही कहना था कि वे कंजर्वेटिव पार्टी को पसंद करते हैं. यह जून 2007 के बाद से उनकी न्यूनतम रेटिंग है, जब पार्टी (तत्कालीन प्रधानमंत्री) डेविड कैमरन के समय 29 प्रतिशत लोगों की पसंद थी.

यह भी पढ़िएः सीएम योगी का पिछली सरकारों पर निशाना, कहा- विभाजनकारी राजनीति के लिए जानी जाती थीं

 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़