येदियुरप्पा के इस्तीफे से आहत समर्थक ने की खुदकुशी, नए CM की तलाश में केंद्रीय पर्यवेक्षक पहुंचेंगे बेंगलुरु
X

येदियुरप्पा के इस्तीफे से आहत समर्थक ने की खुदकुशी, नए CM की तलाश में केंद्रीय पर्यवेक्षक पहुंचेंगे बेंगलुरु

येदियुरप्पा ने अपने समर्थक की खुदकुशी पर ट्वीट किया, ’’इस तरह से जिंदगी खत्म करना कबूल नहीं है. मैं हाथ जोड़ कर प्रार्थना करता हूं कि सम्मान को इस चरम पर नहीं पहुंचाना चाहिए. मैं दुख की इस घड़ी में रवि के परिवार के साथ हूं.’’

येदियुरप्पा के इस्तीफे से आहत समर्थक ने की खुदकुशी, नए CM की तलाश में केंद्रीय पर्यवेक्षक पहुंचेंगे बेंगलुरु

बेंगलुरुः कर्नाटक के मुख्यमंत्री ओहदे से बी एस येदियुरप्पा के इस्तीफे से आहत हो कर उनके एक हिमायती ने मुबैयना तौर पर खुदकशी कर ली है. पुलिस के मुताबिक, चामराजनगर जिले के गुंडलूपेट तालुका के बोम्मालपुरा का रहने वाला 30 साल का राजप्पा (रवि) मुख्यमंत्री पद से येदियुरप्पा के इस्तीफा देने से सदमें में था और उसने मुबैयाना तौर पर खुदकशी कर ली. येदियुरप्पा ने इस हादसे पर ‘‘शोक’’ जताया और कहा है कि सियासत में उतार और चढ़ाव आना आम बात है. उन्होंने अपने समर्थकों से इस तरह का कोई कदम नहीं उठाने की अपील की. येदियुरप्पा ने ट्वीट किया, इस तरह से जिंदगी खत्म करना कबूल नहीं है. मैं हाथ जोड़ कर प्रार्थना करता हूं कि सम्मान को इस चरम पर नहीं पहुंचाना चाहिए. मैं दुख की इस घड़ी में रवि के परिवार के साथ हूं.’’ 

आज शाम बेंगलुरु पहुंचेंगे केंद्रीय पर्यवेक्षक
वहीं दूसरी जानिब बी एस येदियुरप्पा के इस्तीफा के बाद उनके वारिस के चयन के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने केंद्रीय मंत्रियों धर्मेंद्र प्रधान और जी किशन रेड्डी को केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में बेंगलुरु भेजने का फैसला किया है. जराया के मुताबिक दोनों नेता आज शाम बेंगलुरु पहुंचेंगे जहां वह नए नेता के चयन के लिए होने वाली विधायक दल की बैठक में शामिल होंगे. विधायक दल की बैठक आज शाम सात बजे होना प्रस्तावित है. 

ये नाम हैं मुख्यमंत्री की रेस में शामिल 
येदियुरप्पा कर्नाटक के प्रभावशाली लिंगायत समुदाय से आते हैं. ऐसी चर्चा है कि लिंगायत समुदाय के ही किसी प्रभावशाली नेता को मुख्यमंत्री पद की कमान सौंपने पर भाजपा में विचार चल रहा है. येदियुरप्पा के संभावित उत्तराधिकारी के रूप में जिन नामों की चर्चा चल रही है, उनमें केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सी टी रवि, बी एल संतोष और राज्य विधानसभा के अध्यक्ष विश्वेश्वर हेगड़े कागेरी शामिल हैं. राज्य के गृह मंत्री बसवराज एस बोम्मई, राजस्व मंत्री आर अशोक और उपमुख्यमंत्री सीएन अश्वत्थ नारायण के नाम भी चर्चा में हैं.

राष्ट्रीय संगठन महासचिव बी एल संतोष भी बेंगलुरु में
जानकारों के मुताबिक सामान्य तौर पर केंद्रीय पर्यवेक्षक विधायकों को नए नेता के रूप में केंद्रीय नेतृत्व की पसंद से रूबरू कराते है और उस पर आम रजामंदी बनाने की कोशिश करते हैं. पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महासचिव बी एल संतोष पहले से ही बेंगलुरू में डेरा डाले हुए हैं और पार्टी नेताओं के साथ बैठक कर उनकी राय ले रहे हैं. येदियुरप्पा ने सोमवार को मुख्यमंत्री के रूप में अपने दो साल का कार्यकाल पूरा किया. इस मौके पर आयोजित एक प्रोग्राम में उन्होंने अपने इस्तीफे का ऐलान किया था. इसके बाद उन्होंने राज्यपाल थावरचंद गहलोत से राजभवन में मुलाकात की और उन्हें अपना इस्तीफा दे दिया था. 

Zee Salaam Live Tv

Trending news