अरिजीत सिंह, सोनू निगम, कुमार विश्‍वास, दिग्‍गज गायकों ने मिलकर गाया 'वीर भगतसिंह वे'

भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को हुआ था. उन्होंने शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार से जिस साहस के साथ मुकाबला किया, उसे भुलाया नहीं जा सकता है. अमृतसर में हुए जलियांवाला बाग हत्याकांड ने भगत सिंह की सोच पर गहरा प्रभाव डाला था.

अरिजीत सिंह, सोनू निगम, कुमार विश्‍वास, दिग्‍गज गायकों ने मिलकर गाया 'वीर भगतसिंह वे'

नई दिल्‍ली: देश को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले क्रांतिकारी भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को आज ही के दिन 1931 में फांसी दे दी गई थी. इसी के चलते 23 मार्च को हर साल शहीद दिवस के तौर पर मनाया जाता है और भारत के इन सपूतों की शहादत को याद किया जाता है. ऐसे में जी म्‍यूजिक कंपनी ने बॉलीवुड के प्रसिद्ध गायकों के साथ मिलकर इन शहीदों को संगीत के माध्‍यम से श्रद्धांजति दी है. जी म्‍यूजिक कंपनी ने बॉलीवुड के प्रसिद्ध गायकों जैसे अरिजीत सिंह, मिक्‍का सिंह, सोनू निगम, पलक मुच्‍छल की आवाज में 'वीर भगत सिंह..' गाना तैयार किया है.

'वीर भगत सिंह...' टाइटल के इस गाने में सभी गायकों के साथ ही कवि कुमार विश्‍वास भी नजर आ रहे हैं. इस गीत को कुमार विश्‍वास ने ही लिखा है. जबकि इसे कंपोज किया है अमजद नदीम ने. इस गाने को सोनू निगम, शान, मिक्‍का सिंह, कैलाश खेर, अरिजीत सिंह, अकित तिवारी, डॉ. कुमार विश्‍वास, सोनू कक्‍कड़ और पलक मुच्‍छल ने गाया है. आप भी देखिए यह गाना.

भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को हुआ था. उन्होंने शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार से जिस साहस के साथ मुकाबला किया, उसे भुलाया नहीं जा सकता है. अमृतसर में हुए जलियांवाला बाग हत्याकांड ने भगत सिंह की सोच पर गहरा प्रभाव डाला था. भगत सिंह कहते थे कि आमतौर पर लोग बदलाव से डरते हैं और महज उसका विचार आने से भी घबरा जाते हैं. 23 मार्च 1931 को शाम करीब 7 बजकर 33 मिनट पर भगत सिंह तथा इनके दो साथियों सुखदेव व राजगुरु को फांसी दी गई थी.

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link

Close