Urmila Matondkar को लेकर अपनी ऑटोबायोग्राफी में रामू ने ऐसा क्या लिख डाला था...

'रंगीला', 'सत्या', 'कौन', 'भूत', 'एक हसीना थी', 'दौड़', 'प्यार तूने क्या किया' और 'जंगल' जैसी तमाम मूवीज रामू ने उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) के साथ कीं.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Sep 20, 2020, 09:06 AM IST

नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने जब उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) को ‘सॉफ्ट पोर्न एक्ट्रेस’ बोल दिया, तो ‘रंगीला गर्ल’ भड़क गईं और ऐसे मौके पर जो चंद लोग उनके समर्थन में आए, उनमें सबसे प्रमुख नाम था रामगोपाल वर्मा (Ram Gopal Varma) उर्फ रामू का. वो रामू ही थे, जिन्होंने कभी एक साधारण सी लड़की उर्मिला को इतना मशहूर बना दिया. 

1/5

रामू और उर्मिला के रिश्तों को लेकर खूब उड़ी थीं अफवाहें

Urmila Matondkar

'रंगीला', 'सत्या', 'कौन', 'भूत', 'एक हसीना थी', 'दौड़', 'प्यार तूने क्या किया' और 'जंगल' जैसी तमाम मूवीज रामू ने उर्मिला के साथ कीं. रामू और उर्मिला के रिश्तों को लेकर भी उस वक्त तमाम अफवाहें उड़ीं थीं, लेकिन दोनों तरफ से एक अजीब सी खामोश बरती गई और लोगों को अंदर की बात कुछ पता नहीं चल पाई, पर रामू ने एक बार उर्मिला को लेकर अपना दिल खोलकर रख दिया था, वो उर्मिला के बारे में क्या सोचते थे, जो कभी उर्मिला को भी नहीं बताया होगा, वो भी लिख डाला अपनी ऑटोबायोग्राफी में.

2/5

उर्मिता को लेकर ऑटोबायोग्राफी में लिखी ये बातें

Urmila Matondkar

श्रीदेवी के दीवाने रामू ने अपनी इस किताब ‘गन्स एंड थाईज: द स्टोरी ऑफ माई लाइफ हैज’ में एक चैप्टर लिखा है, जिसमें अपनी जिंदगी में आई सभी महिलाओं, खासतौर पर हीरोइंस के बारे में लिखा है. शुरुआत श्रीदेवी से हुई है और फिर उर्मिला, अंतरा माली और निशा कोठारी जैसी हीरोइंस हैं. इस चैप्टर का नाम है ‘वूमेन इन माई फिल्मी लाइफ’. इस चैप्टर में उर्मिला को लेकर लिखा है, 'फिल्मों में आने के बाद जिस पहली लड़की ने मेरे ऊपर प्रभाव छोड़ा, वो थी उर्मिला मातोंडकर. मैं उर्मिला की खूबसूरती पर मोहित हो गया था. उसके चेहरे से लेकर उसके फिगर तक. उसके बारे में सब कुछ डिवाइन था. ‘रंगीला’ से पहले उसने कुछ मूवीज की थीं, लेकिन वो नहीं चलीं और उर्मिला उनसे कुछ असर भी नहीं छोड़ पाई थी, लेकिन ‘रंगीला’ ने उसको नेशनल सेक्स सिंबल बना दिया.'

3/5

उर्मिला की खूबसूरती की तारीफ

Urmila Matondkar

रामू, उर्मिला को इतना खूबसूरत बनाने का क्रेडिट बिलकुल नहीं लेते, फिर भी वो अपनी तारीफ थोड़ी अलग ढंग से करते हैं. उर्मिला की तारीफों के पुल बांधने के साथ वो आगे लिखते हैं, 'इसका मतलब ये कतई नहीं कि मैंने उसे इतना खूबसूरत बना दिया, मैं बस इतना कह सकता हूं कि वो पेंटिंग है और मैंने उसे फ्रेम करवा दिया. फ्रेम के अलावा एक पेंटिंग का पूरा मजा तभी मिलता है, उसे डिस्प्ले के लिए सही जगह पर रखने की जरूरत भी होती है और वो जगह थी रंगीला'.

4/5

‘रंगीला’ बनाने के पीछे भी उर्मिला ही थीं

Urmila Matondkar

वो ये मानते हैं कि ‘रंगीला’ बनाने के पीछे भी उर्मिला ही थीं, वो लिखते हैं, 'रंगीला बनाने के पीछे मेरा एक उद्देश्य ये भी था कि उर्मिला की खूबसूरती को अनंतकाल तक के लिए कैमरे में कैद कर लेना और इसे सेक्स सिंबल्स के लिए बेंचमार्क बनाना. मैं कहूंगा कि मैंने 'रंगीला' के सेट पर उसको कैमरे में जो देखा, उससे ज्यादा सिनेमेटिक ऊंचाई पर मैंने खुद को कभी भी महसूस नहीं किया.'

5/5

रामू को आखिर उर्मिला से परेशानी क्या थी?

Urmila Matondkar

अब जानिए कि रामू को आखिर उर्मिला से परेशानी क्या थी? इसके बारे में रामू ने अपनी इसी किताब में लिखा है, 'मुझे नहीं पता ये कैसा लगेगा, लेकिन उर्मिला से मेरी व्यक्तिगत तौर पर सबसे बड़ी परेशानी थी कि मैं उसे कभी भी एक साधारण मानव के तौर पर देखना स्वीकार नहीं कर सकता. मुझे पता है कि किसी भी महिला से इस तरह की अपेक्षा बेहद अवास्तविक थी, लेकिन तब आपको समझना पड़ेगा कि मैं काफी फिल्मी आदमी हूं. एक व्यक्ति के तौर पर वह एक सिंपल स्वीटहार्ट थी, लेकिन मैं बहुत स्वार्थी रहा हूं हमेशा, उसे लार्जर देन लाइफ देखना चाहता था, यहां तक कि निजी जिंदगी में भी.'