UK में मिले कोरोना के भयानक रूप को लेकर सरकार ने की बहुत बड़ी घोषणा

New Strain of COVID-19 in UK: NITI Aayog के सदस्‍य वी.के.पॉल (VK Paul) ने मंगलवार को आधिकारिक तौर पर पुष्टि की है कि 'यूनाइटेड किंगडम में देखा गया कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन (new strain of COVID-19)  या म्‍युटेशन अब तक भारत में नहीं देखा गया है.' 

UK में मिले कोरोना के भयानक रूप को लेकर सरकार ने की बहुत बड़ी घोषणा
वी.के.पॉल (एएनआई फोटो)

नई दिल्ली: यूनाइटेड किंगडम (UK) में पाए गए COVID-19 के नए स्‍ट्रेन (strain) को लेकर भारतीयों के लिए एक बड़ी खबर आई है. खास बात ये है कि खबर राहत भरी है. NITI Aayog के सदस्‍य वी.के.पॉल (VK Paul) ने मंगलवार को आधिकारिक तौर पर पुष्टि की है कि यूके में देखा गया COVID-19 का नया स्‍ट्रेन अब तक भारत में नहीं मिला है. 

पॉल ने कहा, 'यूनाइटेड किंगडम में देखा गया कोरोना वायरस का नया स्‍ट्रेन (new strain of COVID-19)  या म्‍युटेशन अब तक भारत में नहीं देखा गया है.' 

टीकों की क्षमता पर भी कोई असर नहीं 

पॉल ने यह भी कहा है, 'हमारे देश में विकसित हो रहे टीकों की क्षमता पर अभी तक इसका कोई प्रभाव नहीं है और ना ही अन्य देशों में हैं. चिंता करने या घबराने की कोई जरूरत नहीं है. अभी हमें केवल सतर्क रहने की जरूरत है.' हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि यूके में COVID-19 के नए स्‍ट्रेन ने वायरस के फैलने की क्षमता बढ़ाई है. वैसे यह म्‍यूटेशन बीमारी की गंभीरता को प्रभावित नहीं कर रहा है. ना ही इस म्‍यूटेशन से मरने वालों की संख्‍या पर कोई असर हुआ है.

ये भी पढ़ें: झूठ बोलकर फ्लाइट में चढ़ा कोरोना पॉजिटिव शख्स, एक घंटे बाद हो गई मौत

केंद्र ने जारी किया नया SOP 

इस दौरान केंद्र ने यूके से आने वाले हवाई यात्रियों के लिए एक नया स्‍टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (SOP) जारी किया है. इसके तहत यूके से आने वाले सभी यात्रियों को पिछले 14 दिनों की अपनी ट्रैवल हिस्‍ट्री साझा करनी होगी. सर्कुलर में कहा गया है कि परीक्षणों में आने वाला पूरा खर्च सरकार उठाएगी. 

ये भी पढ़ें: भारत में भी New Covid Strain फैलने का डर, London से India पहुंचे 7 यात्री निकले Corona पॉजिटिव

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा है, 'यह एक अस्थायी उपाय है और यह 31 दिसंबर, 2020 तक लागू रहेगा.' इससे पहले सोमवार को भारत सरकार ने 22 दिसंबर से 31 दिसंबर तक के लिए ब्रिटेन की सभी फ्लाइट्स को रद्द कर दिया था.

21 दिसंबर तक ब्रिटेन में आए अधिकांश मामले लंदन, दक्षिण पूर्व और पूर्वी इंग्लैंड के हैं. यूके के अलावा, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील और डेनमार्क जैसे देशों में भी अधिक संक्रामक कोरोना वायरस स्‍ट्रेन पाया गया है.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.