close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: थाना के बगल में नौकरी करता है वारंटी, 3 साल में भी गिरफ्तार नहीं कर सकी पुलिस

बगहा कोर्ट ने कृष्ण कुमार सिंह नेपाली के खिलाफ तीन साल पहले स्थाई वारंट जारी किया था, लेकिन पुलिस उस पर आज तक शिकंजा नहीं कस सकी है.

बिहार: थाना के बगल में नौकरी करता है वारंटी, 3 साल में भी गिरफ्तार नहीं कर सकी पुलिस
कृष्ण कुमार सिंह नेपाली पर मारपीट समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज है.

इमरान, बगहा : बिहार के बगहा में पुलिस (Bihar Police) एक वारंटी के आंखों के सामने होने के बावजूद तीन वर्षों से गिरफ्तार (Arrest) नहीं कर सकी है. वारंटी आराम से सरकारी कर्मचारी के तौर पर अपनी नौकरी करता रहा. मामला रामनगर थाना क्षेत्र का है, जहां नगर पंचायत दफ्तर में पदस्थापित बड़ा बाबू कृष्ण कुमार सिंह नेपाली पर मारपीट समेत अन्य धाराओं में रामनगर थाना में केस दर्ज कराया गया था.

बगहा कोर्ट ने कृष्ण कुमार सिंह नेपाली के खिलाफ तीन साल पहले स्थाई वारंट जारी किया था, लेकिन पुलिस उस पर आज तक शिकंजा नहीं कस सकी है. वो भी तब, जब नगर पंचायत का दफ्तर रामनगर थाना के ठीक बगल में है. वारंटी का घर भी नगर पंचायत और थाने के बीच में ही पड़ता है. इसके बावजूद पुलिस को वारंटी के बारे में कानों-कान खबर नहीं हुई.

लाइव टीवी देखें-:

इसके कारण कृष्ण कुमार सिंह नेपाली तीन साल तक बिना किसी फिक्र के अपनी हाजिरी बनाते रहे और वेतन भी उठाते आ रहे हैं. इस मामले में कृष्ण कुमार सिंह नेपाली कुछ भी कहने से बच रहे हैं. वहीं, नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी जितेन्द्र कुमार सिन्हा के मुताबिक, अगर मामला सच साबित हुआ तो कार्रवाई की जाएगी.

रामनगर के एसडीपीओ अर्जुन लाल इस मामले को जांच का विषय बताकर पल्ला झाड़ रहे हैं. हालांकि कानून के जानकारों के मुताबिक, पुलिस ने इस मामले में लापरवाही दिखा कर कोर्ट के आदेश की धज्जियां उड़ाई हैं.

ऐसे में सवाल उठता है कि कैसे तीन साल तक एक वारंटी पुलिस की नाक के नीचे सरकारी ड्यूटी करता रहा? कैसे थाना के ठीक बगल में दफ्तर होने के बावजूद पुलिस को इसकी खबर नहीं हुई? आखिर किन हालातों में कोर्ट के आदेश पर अमल नहीं किया गया? अब इन सभी सवालों का जवाब पुलिस महकमे को ही देना है.

-- Leena Singh, News Desk