भागलपुर में मजदूर को मिली पुलिस सुरक्षा, भाई की सात महीने पहले हुई थी हत्या, जानें पूरा मामला
topStories0hindi1539782

भागलपुर में मजदूर को मिली पुलिस सुरक्षा, भाई की सात महीने पहले हुई थी हत्या, जानें पूरा मामला

संतोष गांव में  ईंट के भट्टे पर ही काम करता है. सात महीने पहले गांव के ही कुछ बदमाशों ने उसके भाई की हत्या कर दी थी. पीछले सात महीने से आरोपियों के खिलाफ संतोष की ओर से कोर्ट में केस चल रहा है.

भागलपुर में मजदूर को मिली पुलिस सुरक्षा, भाई की सात महीने पहले हुई थी हत्या, जानें पूरा मामला

भागलपुर : जगदीशपुर में ईंट के भट्टे पर काम करने वाले 24 वर्षीय मजदूर संतोष कुमार को पुलिस ने आत्म सुरक्षा दे रखी है. संतोष के साथ हर समय पुलिस का जवान तैनात रहता है. दरअसल, सात महीने पहले जून 2022 में संतोष के छोटे भाई की कुछ दबंग लोगों ने निर्मम हत्या कर दी गई थी. संतोष के भाई की हत्या में कुल सात लोगों को आरोपी बनाया गया है. पुलिस ने इनमें से सिर्फ एक आरोपी को ही गिरफ्तार कर रखा है. संतोष को रोजाना जान से मारने की धमकी मिलती थी. कोर्ट के आदेश पर सुरक्षा गार्ड मुहैया कराया गया है.

ईंट के भट्टे पर काम करता है संतोष
बता दें कि संतोष गांव में  ईंट के भट्टे पर ही काम करता है. सात महीने पहले गांव के ही कुछ बदमाशों ने उसके भाई की हत्या कर दी थी. पीछले सात महीने से आरोपियों के खिलाफ संतोष की ओर से कोर्ट में केस चल रहा है. आरोपी हमेशा संतोष को केस वापस लेने के लिए धमकी दिया करते है. संतोष ने परेशान होकर इसी शिकायत वरीय अधिकारी को दी. इसके बाद कोर्ट के आदेश पर संतोष को बिहार पुलिस की तरफ से एक पिस्टल धारी सिपाही सुरक्षा के लिए दिया गया है. सिपाही हर समय संतोष के साथ रहेगा और उसकी सुरक्षा भी करेगा.

संतोष की मां को परेशान करते है बदमाश
पीड़ित संतोष ने बताया कि गांव के कुछ दबंगों मां को परेशान करते थे. मां को बार-बार परेशान होता देख भाई दबंगों से भीड़ गया. झगड़े के दौरान बदमाशों ने नौ साल के भाई की हत्या कर दी. घटना को करीब नौ महीने हो गए है लेकिन अभी तक भाई के हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं हुई है. रोजाना बदमाश जान से मारने की धमकी देता है. बार-बार दबंगों के परेशान करने की वजह से ईंट के भट्टे से काम छोड़ दिया.

घटना पर क्या कहते है पुलिस अधिकारी
एसएसपी ने बताया कि कोर्ट के आधेश पर संतोष को सुरक्षा गार्ड दिया गया है. अब सुरक्षा गार्ड ही संतोष का ध्यान देगा. संतोष को अब घर से निकलने में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी. अगर संतोष को किसी प्रकार की दिक्कत होती है तो उसका पूरा ध्यान रखा जाएगा.

ये भी पढ़िए -  नोटिस के बाद भी नहीं बदले सुर, सीएम नीतीश पर सुधाकर सिंह ने फिर बोला हमला

Trending news