PM नरेंद्र मोदी और प्रियंका चोपड़ा ने बिहार के अरवल में ली कोविड वैक्सीन! जानें पूरा मामला
X

PM नरेंद्र मोदी और प्रियंका चोपड़ा ने बिहार के अरवल में ली कोविड वैक्सीन! जानें पूरा मामला

इस फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद दो डाटा ऑपरेटरों को नौकरी से निकाल दिया गया है. हालांकि, निकाले गए कर्मचारियों का कहना है कि हेल्थ मैनेजर के दबाव में उन्होंने ऐसा किया.

 

PM नरेंद्र मोदी और प्रियंका चोपड़ा ने बिहार के अरवल में ली कोविड वैक्सीन! जानें पूरा मामला

Patna: बिहार (Bihar) के अरवल (Arwal) के करपी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कोविड टेस्ट (Covid Test) को मजाक बनाकर रख दिया गया है. आरटीपीसीआर टेस्‍ट (RTPCR Test) और वैक्सीनेशन (Vaccination) के नाम पर करपी एपीएचसी (Karpi APHC) में बड़े फर्जीवाड़ा का खुलासा हुआ है. यहां टीका लेने वालों की लिस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, (PM Narendra Modi), गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah), सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा (Actress Priyanka Chopra) के नाम शामिल हैं. अधिकारियों को भी दिग्गज नेताओं और बॉलीवुड हस्ती के नाम देख कर झटका लग गया.

दो डाटा ऑपरेटरों को नौकरी से हटाया गया 
इस फर्जीवाड़े का खुलासा होने के बाद दो डाटा ऑपरेटरों (Data Operators) को नौकरी से निकाल दिया गया है. हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार निकाले गए कर्मचारियों का कहना है कि हेल्थ मैनेजर (Health Manager) के दबाव में उन्होंने ऐसा किया. बता दें कि कोविड की वैक्सीन लेने वालों और आरटीपीसीआर टेस्‍ट के नाम पर यह फर्जीवाड़ा किया गया है. लिस्ट में कई ऐसे नाम हैं जिनको देखकर अधिकारी भी हैरान रह गए. नौकरी से निकाले गए ऑपरेटर विनय कुमार ने हेल्थ मैनेजर को इसके लिए दोषी ठहराया. कहा कि उनलोगों को आंकड़ा भी उपलब्ध नहीं कराया जाता था और स्वास्थ्य प्रबंधक जबरन एंट्री करने का दबाव बनाता था. 

ये भी पढ़ें- पटना के प्राइवेट स्कूलों को आदेश जारी, ओमिक्रोन से बचाव के लिए ऑनलाइन क्लास कराने का मिला निर्देश

डीएम ने कहा- FIR कर दोषियों पर होगी कार्रवाई 
वहीं, दूसरे ऑपरेटर प्रवीण कुमार ने बताया कि जो डाटा दिया गया उनकी ही एंट्री की गई है. जब बात ऊपर तक गई तो उन्‍हें नौकरी से हटा दिया गया है. 
इस मामले पर जब DM जे प्रियदर्शनी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि यह बहुत गंभीर मामला है. इसकी जांच की जाएगी. FIR दर्ज कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी. आगे कहा कि सिर्फ करपी ही नहीं, बल्कि पूरे जिले में इसकी जांच की जाएगी.

Trending news