close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार : महागठबंधन के नेताओं पर BJP का तंज, कहा- तेजस्वी यादव का झोला उठाएं

लालू प्रसाद से रांची में मुलाकात के बाद महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं की पहली औपचारिक बैठक आज पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के पटना स्थित आवास पर होगी. 

बिहार : महागठबंधन के नेताओं पर BJP का तंज, कहा- तेजस्वी यादव का झोला उठाएं
महागठबंधन के नेताओं का तेजस्वी यादव पर तंज. (फाइल फोटो)

पटना : राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव के नेतृत्व में आज महागठबंधन की मीटिंग होने वाली है. कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बैठक में सीट शेयरिंग को अंतिम रूप दिया जाएगा. बैठक को लेकर सियासत भी तेज है. इस मीटिंग के बहाने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) ने महागठबंधन के नेताओं पर कटाक्ष किया है.

बीजेपी नेता निखिल आनंद ने मीटिंग के बहाने गठबंधन के बड़े चेहरे राहुल गांधी, शरद यादव, उपेन्द्र कुशवाहा पर तंज कसा है. उन्होंने कहा कि ये बड़े नेता तेजस्वी यादव का झोला उठाकर चलें. उन्होंने कहा कि वैसे ये पहले भी होटरवार जेल में लालू यादव के समक्ष दंडवत हो चुके हैं. निखिल आनंद ने कहा कि महागठबंधन में जिस तरीके से मारामारी है, वैसे में एक सीट पर दो-दो प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे.

महागठबंधन के मीटिंग पर जेडीयू नेता श्याम रजक ने कहा कि यह बैठक एनडीए के लिए कोई चिंता का विषय नहीं है. उन्होंने दावा किया कि नीतीश कुमार अपने काम से जनता के दिलों में बसे हुए हैं. उन्होंने सभी 40 सीटों पर एनडीए की जीत का दावा किया है.

ज्ञात हो कि आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद से रांची में मुलाकात के बाद महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं की पहली औपचारिक बैठक सोमवार को पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के पटना स्थित आवास पर होगी. तेजस्वी के आवास पर महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं की सोमवार की शाम छह बजे प्रस्तावित इस महत्वपूर्ण बैठक में रालोसपा प्रमुख उपेन्द्र कुशवाहा, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्युलर) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी, लोकतांत्रिक जनता दल के अध्यक्ष शरद यादव और वीआईपी पार्टी के अध्यक्ष मुकेश सहनी के शामिल होने की संभावना है.

सीट-शेयरिंग पर चर्चा
इस बैठक में महागठबंधन के घटक दलों के नेताओं के बीच आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार की 40 सीटों को लेकर आपस में चर्चा होने की संभावना जताई जा रही है. इस बैठक में सभी दलों के बीच औपचारिक सहमति बनने के बाद सीट साझेदारी के फार्मूले को मूर्त रूप दिया जा सकता है.