मुजफ्फरपुर मामले में SC की टिप्पणी के बाद बोले नीतीश कुमार, 'नहीं होगी आदेश की अवहेलना'

सीएम नीतीश कुमार ने कहा है सुप्रीम कोर्ट के आदेश की किसी तरह से अवहेलना नहीं होगी.

मुजफ्फरपुर मामले में SC की टिप्पणी के बाद बोले नीतीश कुमार, 'नहीं होगी आदेश की अवहेलना'
नीतीश कुमार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश को खुद संज्ञान लेने की बात कही है. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को सुनावाई के दौरान राज्य सरकार और सीबीआई दोनों पर तल्ख टिप्पणी की है. सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार से कहा कि हम जानना चाहते हैं कि आप सरकार कैसे चला रहे हैं. साथ ही राज्य सरकार को कहा कि सवालों के जवाब देने को तैयार रहिए. वहीं, सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि कोर्ट के आदेश की किसी तरह से अवहेलना नहीं होगी.

नीतीश कुमार ने कहा है कि पूरे मामले की जानकारी मैं खुद लूंगे. अगर किसी तरह की कोई बात होगी तो उसे समझ कर दूर किया जाएगा. उन्होंने साफ तौर पर कहा कि किसी भी हाल में सुप्रीम कोर्ट की बातों की अवहेलना नहीं की जाएगी. वहीं, सुशील मोदी ने भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट के सभी आदेशों का पालन किया जाएगा.

आपको बता दें कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला लेते हुए मामले को पटना से दिल्ली के साकेत कोर्ट स्थित स्पेशल पोक्सो कोर्ट में शिफ्ट कर दिया है. कोर्ट इस मामले की प्रतिदिन सुनवाई करेगी. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि स्पेशल कोर्ट 6 महीने के अंदर इस मामले का निपटारा करे.

सुप्रीम कोर्ट ने एक बार फिर बिहार सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि यह शर्मनाक है कि बच्चों के साथ ऐसा व्यवहार किया जाता है. ऐसी चीजों की इजाजत कैसे दी जा सकती है. सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही दो बजे तक सारे सवालों का जवाब देने के लिए भी कहा है.

सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही बिहार सरकार पर तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि हम सरकार नहीं चला रहे हैं लेकिन हम जानना चाहते हैं कि आप सरकार कैसे चला रहे हैं? फटकार लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को कहा है कि आप कुछ कठिन सवालों के लिए तैयार रहिए.

यह भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर रेप केस: CBI पर बरसा सुप्रीम कोर्ट, कहा- 'आपने SC के ऑर्डर से खेला है, गॉड हेल्प यू'

वहीं, सीजेआई रंजन गोगोई ने सीबीआई को फटकार लगाते हुए कहा, 'हम इसे बहुत, बहुत ही ज्यादा गंभीरता से देख रहे हैं. आपने सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर के साथ खेला है. गॉड हेल्प यू..आपको नहीं पता आपने क्या किया है.'