झारखंडः सीएम रघुवर दास ने शुरू किया 'रन फ़ॉर सेफ्टी' कार्यक्रम, बोले- सभी खुद को बदलें

सीएम रघुवर दास ने 30वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 2019 'रन फ़ॉर सेफ्टी' को हरी झंडी दिखा दी है.

झारखंडः सीएम रघुवर दास ने शुरू किया 'रन फ़ॉर सेफ्टी' कार्यक्रम, बोले- सभी खुद को बदलें
सीएम रघुवर दास ने रन फॉर सेफ्टी कार्यक्रम का शुभारंभ किया है.

मदन सिंह/रांचीः झारखंड के सीएम रघुवर दास ने 30वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह 2019 'रन फ़ॉर सेफ्टी' को हरी झंडी दिखा दी है. साथ ही गुब्बारा उड़ा कर इस कार्यक्रम शुभारंभ किया. मुख्यमंत्री युवाओं और बच्चों के लाख सैनिक मार्केट से मोरहाबादी तक पैदल चलकर गए. सैनिक मार्केट से मोरहाबादी मैदान तक मैराथन का आयोजन हुआ. 

मुख्यमंन्त्री ने इस दौरान कहा कि रांची स्मार्ट सिटी की ओर अग्रसर है. यहां के नागरिक भी स्मार्ट बनें. उन्होंने कहा कि आप खुद बदलें, और लोगों को भी बदलने का प्रयास करें. राज्य का हर नागरिक अगर यातायात नियमों का पालन करें तो सड़क दुर्घटना रहित झारखण्ड का निर्माण हो सकता है. 

बिना सीट बेल्ट पकड़े गए तो लाइसेंस रद्द होगा
मोटरसाइकिल चलाने वाले हेलमेट पहनें और कार चालक सीट बेल्ट का उपयोग करें. यह आपकी सुरक्षा के लिए जरूरी है. हम सिर्फ कानून से समाज को नहीं बदल सकते बल्कि जागरूकता का इसमें अहम योगदान होता है. पूरे राज्य में सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया गया. ताकि नागरिकों में यातायात नियमों के पालन हेतु जागरूकता का संचार हो. आने वाले दिनों में सीट बेल्ट नहीं लगाने वालों के लिए सरकार यह नियम बनाने जा रही जिसके तहत तीन बार बिना सीट बेल्ट लगाए कार चलाने वालों को लाइसेंस नहीं दिया जाएगा.

केवल कानून से नहीं जागरूकता से समाज को बदला जा सकता है
मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सौभाग्यशाली हैं हम मानव रूप में इस पृथ्वी में हैं. जीवन अनमोल है. सड़क दुर्घटना में हो रही मौत चिंता का विषय है. कानून से सिर्फ समाज को नहीं बदला जा सकता है इसके लिए जागरूकता बेहद जरूरी है. परिवहन विभाग अब कानून के साथ जागरूकता का संचार कर यातायात के प्रति लोगों को जागरूक करने का प्रयास कर रही है.

युवा और स्कूली बच्चे जागरूक बनें
मंत्री  सीपी सिंह ने कहा कि सरकार विभिन्न माध्यम से यातायात के  नियमों को लागू करवाने का प्रयास कर रही है. हर दो दिन में तीन मौत होती है. हमें ऐसा कार्य करना है कि हादसे के आंकड़ों में भारी गिरावट आए. युवा वर्ग के लोग, स्कूल के बच्चे बिना हेलमेट के तीन सवारी बैठा कर वाहन चलाते हैं. यह ठीक नहीं. पुलिस से बचने के लिए यातायात नियमों का पालन डर से नहीं बल्कि खुद की सुरक्षा के लिए करें. आप स्वस्थ और सुरक्षित रहें यही सरकार की कामना है.

मौत का मुख्य कारण हेलमेट नहीं पहनना परिवहन सचिव प्रवीन  टोप्पो ने कहा कि हर रोज 12 हादसे होते हैं. मौत का मुख्य कारण हेलमेट का नहीं होना रहता है. हेलमेट जरूर पहनें. यह बहुत जरूरी है. इस कार्यक्रम का उदेश्य वाहन चलाने वालों के लिए यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने का एवं उनका पालन करवाने का है.

असावधानी जान जाने का कारण न बने
उपायुक्त रांची राय महिमापत रे ने कहा कि पहली बार किसी मुख्यमंत्री का आगमन इस तरह का कार्यक्रम में हुआ है. यह उत्साहित करने वाला है. यातायात नियमों का पालन जरूरी है हमारी थोडी सी असावधानी कहीं हमारी और आपकी जिंदगी के लिए दुखदाई साबित न हो जाये है.