close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार में पर्यटकों को घूमने के लिए निगम देती है कई सुविधाएं, नहीं है सैलानी वाकिफ

व्यापक प्रचार-प्रसार में कमी के कारण लोगों को पर्यटन निगम की तरफ से चलाए जा रहे ऑफर की जानकारी नहीं है.

बिहार में पर्यटकों को घूमने के लिए निगम देती है कई सुविधाएं, नहीं है सैलानी वाकिफ
बिहार में टूरिज्म के लिए निगम कई सुविधाएं देती है. (फाइल फोटो)

पटनाः बिहार में पर्यटकों के लिए काफी घूमने की जगह है. हर मौसम के लिहाज से यहां घूमने के लिए कई जगह हैं. लेकिन व्यापक प्रचार-प्रसार में कमी के कारण लोगों को पर्यटन निगम की तरफ से चलाए जा रहे ऑफर की जानकारी नहीं है. बुनियादी सुविधाओं की कमी और जानकारी के अभाव में निगम के तरफ से चलाए जा रहे स्पेशल ऑफर का लाभ यात्रियों को नहीं मिल पा रहा है.

नवादा का ककोलत जलप्रपात हो या फिर राजगीर में गर्म पानी का झरना, बिहार में सैलानियों को आकर्षित करते कई पर्यटक स्थल हैं. खास बात यह है कि बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम लिमिटेड भी हर मौसम  के लिहाज से सैलानियों को ऑफर पैकेज उपलब्ध कराते हैं, लेकिन जानकारी की कमी और बुनियादी सुविधाओं के अभाव के कारण लोग यहां आने से परहेज करते हैं.

हालांकि, बिहार पर्यटन निगम रियायती दरों पर घूमने की सुविधाएं भी उपलब्ध कराता है. लेकिन इन रियायती सुविधाओं का क्या लाभ जब पर्यटक ही इससे वाकिफ नहीं हों. बिहार के अलावा दूसरे राज्य पर्यटन से अच्छी खासी कमाई करते हैं, लेकिन बिहार की सरकार मुनाफा कैसे कमाएं जब पर्यटक ही खास ऑफर से अनजान हों.

दरअसल, बिहार पर्यटन विकास निगम हर मौसम की शुरुआत में ही पर्यटकों के लिए खास तरह के ऑफर का ऐलान करता है और ये पिछले कई वर्षों से होता रहा है. नालंदा, राजगीर, बोधगया, पावापुरी, ककोलत जैसी जगहों के लिए गर्मी की शुरुआत में निगम ने खास ऑफर का ऐलान किया. निगम की योजना हर शनिवार और रविवार को विशेष गाड़ियों से पर्यटकों को इन स्थानों पर घूमाने की थी. लेकिन उसके पास सैलानी बुकिंग के लिए नहीं आ रहे हैं. सिर्फ रविवार को सैलानी ककोलत-पावापुरी का भ्रमण कर रहे हैं वो भी ट्रैवलर्स के जरिए.

ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा नहीं होने के कारण भी सैलानी पर्यटन निगम के जरिए सफर करने से गुरेज करते हैं. वातानुकूलित बड़ी गाड़ियां हैं लेकिन उसका इस्तेमाल रांची-जमशेदपुर के सफर के लिए होता है. निगम भी क्या करे जब ट्रैव्लर ही मुश्किल से भर रहा है तो बड़ी गाड़ियों के जरिए पर्यटक को किस लिहाज से भेजा जाए.

बिहार राज्य पर्यटन निगम में ओएसडी आलोक श्रीवास्तव के मुताबिक, निगम के पास बेहतरीन टूर पैकेज हैं और यात्री इसका लाभ भी उठा रहे हैं. बिहार राज्य पर्यटन निगम ने पटना दर्शन के नाम से भी एक पैकेज का ऐलान किया है. लेकिन सैलानियों को इसकी जानकारी नहीं हैं.

पटना दर्शन पैकेज में 

पटना-हनुमान मंदिर-शीतला माता मंदिर- ट्रैव्लर्स से 600 रुपये- एक दिन का पैकेज
छोटी पटनदेवी मंदिर-बड़ी पटनदेवी मंदिर- डेकर से 500 रूपए
जगदंबा स्थान पटना-पावापुरी-ककोलत-पटना- डेकर 500रुपये, ट्रेव्लर 500रूपए- एक दिन- करवां- 9975 रूपए (7 व्यक्ति के लिए)   
पटना-नालंदा-राजगीर-पावापुरी-पटना- एसी बस 750रुपये, ट्रेवलर- 800- एक दिन

इसके साथ ही इस खास किस्म के पैकेज में गाइड, मिनरल वाटर, लंच और ब्रेकफास्ट की भी सुविधा है. लेकिन पर्यटन निगम के इस पैकेज से जानकारी के अभाव में लोग उदासीन हैं.