बिहार : फारबिसगंज में भीड़ का इंसाफ, महिला के साथ पकड़े गए युवक की बेरहमी से पिटाई

बिहार : फारबिसगंज में भीड़ का इंसाफ, महिला के साथ पकड़े गए युवक की बेरहमी से पिटाई

जब तीन दिनों तक महिला घर से गायब रही तो उसकी मां को पता चला कि उनकी बेटी छतियोना में है. इसके बाद महिला की मां ने गांववालों को इसकी जानकारी दी कि उनकी बेटी को हजरत बहला-फुसलाकर ले आया है.

बिहार : फारबिसगंज में भीड़ का इंसाफ, महिला के साथ पकड़े गए युवक की बेरहमी से पिटाई

फारबिसगंज : बिहार के फारबिसगंज के रानीगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत छतियोना पंचायत वार्ड 12 में एक घर से संदिग्ध हालात में एक महिला के साथ युवक को देखा गया. इसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा जमकर फूट पड़ा. आक्रोशित लोगों ने पहले युवक के बाल काट दिए फिर जमकर उसकी पिटाई कर दी. बाद में उसे पुलिस के हवाले कर दिया.

वहीं, महिला को उनके परिजन अपने घर लेकर चले गए. घटना के संबंध में मिली जानकारी अनुसार, अररिया के गोढ़ी चौक निवासी मंसूर आलम का बेटा हजरत आलम गोढ़ी चौक निवासी एक महिला को बहला फुसलाकर ले आया. आरोपी युवक ने देव नारायण मंडल के घर यह कहकर महिला को लाया कि अररिया में बाढ़ आ गई है, इसलिए कुछ दिन रहने दें.

जब तीन दिनों तक महिला घर से गायब रही तो उसकी मां को पता चला कि उनकी बेटी छतियोना में है. इसके बाद महिला की मां ने गांववालों को इसकी जानकारी दी कि उनकी बेटी को हजरत बहला-फुसलाकर ले आया है. आक्रोशित लोगों ने पहले युवक कि सिर का आधा बाल काट दिया. इसके बाद उसकी जमकर पिटाई कर दी.

पूरे मामले पर एसपी धुरत शयाली ने बताया कि युवक पर अररिया थाना में महिला के अपहरण का मामला दर्ज था, जिसके बाद युवक को जेल भेज दिया है. पिटाई मामले पर एसपी ने कहा कि युवक और उसके पिता से पिटाई करने वालों पर एफआईआर दर्ज करवाने के लिए कहा गया, लेकिन उन्होंने नहीं करवाया. इस कारण पिटाई करने वालों पर कार्रवाई नहीं हो सकी.

Trending news