कांग्रेस ज्वाइन करते ही कीर्ति आजाद ने स्वीकारा- 1999 में बूथ लूटकर बने थे सांसद

स्वागत कार्यक्रम के दौरान अपनी नई नवेली पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कीर्ति आजाद ने कुछ ऐसा कहा कि लोग कुछ देर के लिए सोचने को मजबूर हो गए.

कांग्रेस ज्वाइन करते ही कीर्ति आजाद ने स्वीकारा- 1999 में बूथ लूटकर बने थे सांसद
कांग्रेस ज्वाइन करने के बाद दरभंगा पहुंचे कीर्ति आजाद. (फाइल फोटो)

मुकेश कुमार, दरभंगा : भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) छोड़ कांग्रेस पार्टी ज्वाइन कर पहली बार दरभंगा पहुंचे सांसद कीर्ति आजाद का कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया. स्वागत कार्यक्रम के दौरान अफरातफरी की स्थिति भी उत्पन्न हो गई. सभा स्थल पर बनाया गया मंच टूट गया. इस दौरान बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष मदन मोहन झा भी मौजूद थे. मंच टूटने से सभी नेता और कार्यकर्ता जमीन पर गिर गए. राहत की बात यह रही की इसमें किसी भी नेता को ज्यादा चोटें नहीं आई.

स्वागत कार्यक्रम के दौरान अपनी नई नवेली पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कीर्ति आजाद ने कुछ ऐसा कहा कि लोग कुछ देर के लिए सोचने को मजबूर हो गए.

उन्होंने अपनी पत्नी पूनम आजाद को कांग्रेसी परिवार की बेटी बताते हुए कहा, 'उस दौर में नागेंद्र बाबा (नागेंद्र झा) और डॉ साहब (जगन्नाथ मिश्र) के लिए बूथ लूटा करते थे. उस समय तो लूटा जाता था, लेकिन आज के समय में कोई गड़बड़ी नहीं है. मेरे पिता भागवत झा आजाद के लिए भी बूथ लूटा जाता था. 1999 में मेरे लिए भी लूटा गया था बूथ. उस समय इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) नहीं आयी थी. 

लगातार दरभंगा से अपनी दावेदारी पेश करने वाले कीर्ति आजाद यूं तो कल तक किसी भी सूरत में दरभंगा से चुनाव लड़ने की बात कह रहे थे, लेकिन कांग्रेस ज्वाइन करते हीउनके सुर थोड़े बदले जरूर हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ने की इच्छा हमने पार्टी के आलाकमान को बता दिया हैं, लेकिन पार्टी जो भी जिम्मेदारी देगी उसे जरूर पूरा करेंगे. वहीं, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि कीर्ति आजाद के कांग्रेस में आने से बहुत फायदा होगा.